नेशनल अवॉर्ड विजेता निर्देशक बुद्धदेब दासगुप्ता का निधन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी श्रद्धांजलि

 10 Jun 2021 12:46 PM

मशहूर बंगाली फिल्ममेकर बुद्धदेब दासगुप्ता का 77 साल की उम्र में निधन हो गया। परिवार के सदस्यों ने यह जानकारी दी। उनके परिवार में उनकी पत्नी और उनकी पहली शादी से दो बेटियां हैं। नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले डायरेक्टर किडनी की बीमारी से जूझ रहे थे। बुद्धदेब बीडी गुप्ता के नाम से भी जाने जाते थे। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनको श्रद्धांजलि दी है।

डायलिसिस पर थे बुद्धदेब

बुद्धदेब लंबे वक्त से बीमार थे। उनके परिजनों ने बताया कि हफ्ते में दो बार उनकी डायलिसिस हो रही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट में लिखा है, श्री बुद्धदेब दासगुप्ता के निधन से दुखी हूं। उनका काम ने समाज के सभी वर्गों का दिल छुआ। वह जाने-माने विचारक और कवि भी थे। इस दुख के मौके पर मेरी संवेदना उनके परिवार और कई प्रशंसकों के साथ हैं। ओम शांति'

 

 

ममता बनर्जी ने बताया अपूरणीय क्षति

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। बनर्जी ने ट्विटर पर कहा, 'जाने-माने फिल्ममेकर बुद्धदेब दासगुप्ता के निधन पर दुख हुआ। उन्होंने अपनी रचनाओं से सिनेमा की भाषा में गीतात्मकता का संचार किया था। फिल्म जगत के लिए उनका निधन अपूरणीय क्षति है। उनके परिवार, सहकर्मियों और प्रशंसकों के लिए संवेदनाएं।'

 

 

बैरकपुर के एमएलए और फिल्मकार राज चक्रवर्ती ने दी श्रद्धांजलि

बैरकपुर के एमएलए और फिल्मकार राज चक्रवर्ती (Raj Chakrabarty) ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है. राज ने बुद्धदेब की फोटो पोस्ट कर लिखा- "कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों के विजेता, जाने-माने फिल्मकार और मशहूर कवि बुद्धदेब दासगुप्ता का निधन हो गया है. उनके परिवार और दोस्तों को मेरी साहनभुति."

 

 

बीमार होने के बाद भी थे ऐक्टिव

1980 और 1990 के दशक में गौतम घोष और अपर्णा सेन के साथ बुद्धदेव दासगुप्ता बंगाल में पैरलेल सिनेमा लेकर आए थे। अबतक दासगुप्ता की पांच फिल्मों को बेस्ट फीचर फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। इसके अलावा दो फिल्मों के लिए उन्हें बेस्ट डायरेक्टर के लिए नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। उनके निधन से दुखी फिल्ममेकर गौतम घोष ने कहा, बुद्धा दा खराब सेहत के बाद भी फिल्में बना रहे थे, आर्टिकल्स लिख रहे थे और ऐक्टिव थे। हम सबके लिए ये बड़ा नुकसान है।