सुशांत सिंह ड्रग मामला: एनसीबी ने चार्टशीट दाखिल की, रिया चक्रवर्ती समेत 33 आरोपी

 05 Mar 2021 01:20 PM

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में एनसीबी ने शुक्रवार को विशेष एनडीपीएस कोर्ट में 1200 पन्नों की चार्टशीट दाखिल की। सुशांत की पूर्व गर्लफ्रेंड और एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शौविक समेत 33 लोगों को  इस मामले में आरोपी बनाया गया है। इसके साथ ही 200 लोगों को गवाह बनाया गया है। हार्ड कॉपी में यह चार्टशीट 12,000 से अधिक पन्नों की है वहीं डिजिटल फॉर्मेट में यह 50,000 पेज की है। इस मामले में कुल 38 आरोपी हैं। इनमें से 5 फरार हैं, जबकि एनसीबी ने 33 लोगों को अब तक अरेस्ट किया है। 

एनसीबी की पूछताछ में रिया ने बताया था कि सुशांत 2016 से ही ड्रग ले रहे थे और वह सुशांत के लिए ही ड्रग्स मंगाती रही हैं। रिया ने यह स्वीकर कर चुकी है कि उसने पार्टियों में कभी-कभार शौकिया तौर पर ड्रग्स या शराब का सेवन किया है। इस मामले में रिया को एनसीबी ने गिरफ्तार भी किया था और उनको एक महीने जेल में भी रहना पड़ा था। सुशांत की मौत के दो महीने बाद उनके पिता ने पटना में केस दर्ज कराया था। यह केस सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया और रिया के परिवार के सदस्यों समेत 5 लोगों के खिलाफ था। 

14 जून को सुशांत सिंह राजपूत का शव बांद्रा स्थित उनके घर से पाए जाने के बाद से ही खबरों और सोशल मीडिया में साजिशों की अटकलें लगने लगी थीं, कि उनकी हत्या हुई है। मुंबई पुलिस से बिहार पुलिस फिर एनसीबी और फिर सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है।

सितंबर में की गई पहली गिरफ्तारी के आधार पर चार्जशीट दाखिल करने के लिए एनसीबी के पास छह महीने का समय था। सुशांत सिंह मौत मामले में ईडी  द्वारा की गई जांच में रिया चक्रवर्ती, उसके भाई शोविक चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत के कुछ कर्मचारियों के बीच निजी व्हाट्सएप चैट में ड्रग्स की बातचीत सामने आने के एनसीबी ने अगस्त में मामला दर्ज किया गया था और फिर इस मामले में ड्रग्स एंगल से जांच शुरू कर दी थी।

एनसीबी ने उन सभी पर सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग्स की खरीद और आपूर्ति करने का आरोप लगाया गया है। अपनी 6 महीने की जांच में एजेंसी ने महाराष्ट्र में कई ठिकानों पर छापेमारी की और शहर में और बॉलीवुड के भीतर चल रहे ड्रग्स रैकेट का पदार्फाश किया था। एनसीबी ने ड्रग्स केस की जांच में दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, रकुल प्रीत सिंह, श्रद्धा कपूर और अर्जुन रामपाल समेत कई सितारों से पूछताछ की थी। 

चार्जशीट के माध्यम से एजेंसी द्वारा इन सभी बयानों और अन्य निष्कर्षों को अदालत में प्रस्तुत किया गया है, जिसे अब सत्यापित किया जाएगा और फिर आरोपी को अदालत के सामने पेश होने के लिए कहा जाएगा।

सुशांत सिंह मौत मामले में एम्स का पैनल ही बता चुका है कि एक्टर की मौत आत्महत्या थी, हत्या नहीं। एम्स पैनल का नेतृत्व करने वाले डॉ सुधीर गुप्ता ने कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या नहीं की गई थी, बल्कि यह आत्महत्या का केस है। सुशांत सिंह राजपूत के पोस्टमार्टम रिपोर्ट की जांच करने के बाद एम्स की टीम इस नतीजे पर पहुंची थी।