केंद्र ने राज्यों से कहा ब्लैक फंगस को नोटिफाइड डिजीज घोषित करें

 20 May 2021 05:05 PM

नई दिल्ली। कोरोना के बाद देश में ब्लैक फंगस के लगातार बढ़ते मरीजों को देखते हुए केंद्र ने राज्यों से कहा है कि वे इसे नोटिफाइड डिजीज घोषित करें। केंद्र ने राज्यों को इसके लिए पत्र लिख कर अलर्ट किया है। इस बीमारी के नोटिफाइड डिजीज घोषित होने के बाद राज्यों को ब्लैक फंगस के केस, मौतों, इलाज और दवाओं का हिसाब रखना होगा। देश के कई राज्यों ने इसके बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए इसे महामारी घोषित कर दिया है।

राजस्थान में इस बीमारी के 400 केस मिले हैं। मध्यप्रदेश में बीमारी के 585 मरीज बताए जा रहे हैं। दिल्ली में ब्लैक फंगस के 300 से ज्यादा मरीज हैं। हरियाणा में ब्लैक फंगस के 177 मरीज हैं। छत्तीसगढ़ में इस बीमारी के मरीजों की संख्या 100 के करीब है। तेलंगाना सरकार ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर दिया है, इस बीमारी के यहां 80 मामले सामने चुके हैं। तमिलनाडु में बीमारी के 9 केस आ चुके हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने राज्यों से ने कोरोना के बाद इसे नई चुनौती माना है। उन्होंने कहा है कि इस बीमारी से कोरोना के मरीजों की मौत की संख्या भी बढ़ रही है। सरकार ने कहा कि यह बीमारी उन लोगों में खासतौर पर दिख रही है जहां कोरोना मरीजों को स्टेरॉयड थैरेपी दी गई है और जिनका शुगर लेवल अनियंत्रित है।