कोरोना का नया म्यूटेंट: मुंबई में तीन मरीज पाए गए संक्रमित, इस पर एंटीबॉडी नहीं करता असर

 10 Jan 2021 02:52 PM

मुंबई। कोरोना के नए स्ट्रेन ने दुनियाभर की टेंशन बढ़ा रखी है। भारत ने नए स्ट्रेन से संक्रमितों की संख्या 100 पहुंचने वाली है। अब मुंबई में तीन मरीजों में कोरोना का ऐसा नया स्ट्रेन पाया गया है जिस पर एंटीबॉडी काम नहीं करता है। मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन के खारघर में टाटा मेमोरियल सेंटर में कोरोना का नया म्यूटेंट मिला है। इस म्यूटेशन को ई484के के नाम से जाना जाता है और वैज्ञानिकों के मुताबिक, यह दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के स्ट्रेन से संबंधित है।

टाटा मेमोरियल सेंटर के होमयोपेथी विभाद के प्रोफेसर डॉक्टर निखिल पटकर ने बताया कि यह दक्षिण अफ्रीका में पाए गए तीन म्यूटेशन्स में से एक है। डॉक्टर निखिल की टीम ने ही 700 कोविड-19 सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग के जरिए जांच की थी, जिनमें से तीन के सैंपल्स में कोरोना का ई484के म्यूटेंट मिला। यह म्यूटेंट मिलना इसलिए चिंता का विषय है क्योंकि पुराने वायरस की वजह से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता की वजह से बनी तीन ऐंटीबॉडी इसपर बेअसर है।

जिन तीन मरीजों में कोरोना का यह म्यूटेंट पाया गया वह बीते साल सितंबर में कोरोना संक्रमित हुए थे। तीनों की उम्र 30, 32 और 43 साल है। इनमें से दो मरीज रायगढ़ के थे और एक ठाणे का। हालांकि इनमें से दो के अंदर कोरोना के हल्के लक्षण थे और इन्हें होम आइसोलेशन में रखा गया था और एक को अस्पताल में भर्ती किया गया था लेकिन उस मरीज को भी ऑक्सीजन सपोर्ट या वेंटिलेटर की जरूरत नहीं पड़ी थी।