कोरोना की तीसरी लहर : अमेरिका, यूरोप और एशिया में तेजी से बढ़ रहे मरीज

 16 Jul 2021 08:33 PM

वॉशिंगटन/ नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को कोरोना की तीसरी लहर आने की घोषणा की थी। कोरोना मरीजों के बढ़ते हुए आंकड़े दिखा रहे हैं कि तीसरी लहर कई देशों में शुरू हो चुकी है। वहीं, देश में कोरोना के हालात पर नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा है कि हम हर्ड इम्युनिटी तक नहीं पहुंचे हैं, संक्रमण से भी नहीं। हम टीकाकरण में निरंतर प्रगति कर रहे हैं। हमारी असुरक्षित आबादी के 50 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया गया है। लेकिन हम अभी भी असुरक्षित हैं। अभी स्थिति नियंत्रण में है लेकिन अगले 100 दिन महत्वपूर्ण होंगे।

कहां क्या हालात -

अमेरिका :

पिछले 25 दिन में नए संक्रमण के मामलों में 350% की वृद्धि हुई है। 48% आबादी (16 करोड़) के वैक्सीनेशन के बाद भी केस बढ़ रहे हैं। हालात को देखते हुए दक्षिणी कैलिफोर्निया के लॉस एंजेलिस में घर के अंदर भी मास्क पहनने को जरूरी कर दिया गया है।

स्पेन : पहली बार एक दिन (13 जुलाई 2021) में 44 हजार केस दर्ज हुए हैं। फरवरी से यहां नए मामलों में गिरावट होने लगी थी। अब जुलाई में मामलों में फिर से इजाफा होने लगा। स्पेन में अब तक कोरोना से 81 हजार मौतें हुई हैं। नीदरलैंड में कोरोना के केसों में 300 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

 

रूस : मंगलवार को 24,702 नए मामले सामने आए। रूस इस समय दुनिया का पांचवां सबसे प्रभावित देश है। यहां कोरोना से अब तक 1.46 लाख मौतें हुई हैं। बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या के बीच देश के 54 प्रतिशत लोगों ने वैक्सीन लगवाने से मना कर दिया है।

 

ब्रिटेन : मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में गुरुवार को 48,553 नए मामले सामने आए। अब तक यहां 1.28 लाख लोगों की मौत हुई है। ब्रिटेन में आबादी के बहुत बड़े हिस्से को वैक्सीन लगाई जा चुकी है, उसके बाद भी केसेज बढ़ रहे हैं।

फ्रांस : नए बीटा वेरिएंट के चलते ब्रिटेन, फ्रांस को रेड लिस्ट में डाल सकता है। इसके बाद वहां से आने वाले लोगों को होटल में क्वारेंटाइन किया जाएगा।

 

इंडोनेशिया : इंडोनेशिया इस समय कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है। यहां गुरुवार को 56,757 केस सामने आए। यहां अब तक संक्रमण के 2,726,803 मामले सामने आ चुके हैं और 70,192 लोगों की मौत हुई है। थाइलैंड में लंबे समय से स्थिति स्थिर थी, लेकिन अब यहां भी तेजी से नए मामले सामने आ रहे हैं। म्यांमार, मलेशिया, इंडोनेशिया, बांग्लादेश में भी कोरोना के मामलों में तेज उछाल देखने को मिल रहा है।