कोरोना :  फाइजर की कोरोना वैक्सीन ट्रायल में 90 प्रतिशत तक सफल रही

 09 Nov 2020 08:16 PM

वॉशिंगटन। अमेरिकी दवा कंपनी फायजर की कोरोना वैक्सीन को नए क्लीनिकल ट्रायल में 90 प्रतिशत कारगर पाई गई है। कंपनी का कहना है कि यह आंकड़े उम्मीद से बेहतर हैं। कंपनी ने सोमवार को कहा कि उसकी वैक्सीन ट्रायल के दौरान 94 संक्रमितों में 90 प्रतिशत कारगर पाई गई है। अभी वैक्सीन ट्रायल के ही चरण में है।
कंपनी ने कहा कि विश्लेषण में पता चला कि जिन वॉलेंटियर्स पर इसका परीक्षण किया गया, उनमें यह बीमारी को रोकने में 90 प्रतिशत से ज्यादा कामयाब रही। अगर बाकी डेटा भी यह संकेत देते हैं कि वैक्सीन सेफ है तो इस महीने के खत्म होने से पहले ही कंपनी हेल्थ रेग्युलेटर्स से वैक्सीन को बेचने की इजाजत के लिए आवेदन करेगी। फायजर ने कहा कि अब तक क्लीनिकल ट्रायल के दौरान कोई भी गंभीर सेफ्टी इश्यू सामने नहीं आया है। ट्रायल में अमेरिका और दूसरे देशों में करीब 44,000 लोगों पर परीक्षण किया जा रहा है। 

नतीजे पूरी तरह विश्वसनीय हों और प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी रहे, इसके लिए कंपनी ने बाहरी और इंडिपेंडेंट एक्सपर्ट्स के पैनल से वैक्सीन ट्रायल का रिव्यू कराया है। पैनल को डेटा सेफ्टी मॉनिटरिंग कमिटी के नाम से जाना जाता है जो यह पता लगाता है कि वैक्सीन कैंडिडेट कितना कारगर और सुरक्षित है।