अगर आपको भी पैर की नस चढ़ने की शिकायत है तो जान लें कारण और उपाए

 11 Jan 2021 03:51 PM

नई दिल्ली: कभी- कभार बैठे-बैठे या सोते समय अचानक से पैरों में नस चढ़ने की समस्या हो जाती। इससे आपको एकदम से तेज दर्द होता है। यह दर्द इस कदर बढ़ जाता है की ठीक से खड़े हो पाना तो दूर आप बैठ भी नहीं सकते। इसके पीछे का एक मुख्य कारण शारीरिक कमजोरी है। नस चढ़ना मांसपेशियों के सिकुड़ने यानी की मसल कॉन्ट्रेक्शन से बन सकती है। तंतुओं में खराबी के कारण मांसपेशियों की गांठ बन जाती है, जिससे तेज दर्द होता है। लेकिन यह खतरनाक नहीं होता और ना हो यह कोई बड़ी समस्या है। मांसपेशियों पर दबाव पड़ने के कारण नस पर नस चढ़ती है। दिनभर की थकान के कारण पैरों की नस पर नस चढ़ सकती है।  लेकिन इसके पीछे शरीर में छुपी कुछ चीजों की कमी भी हो सकती है। 

सबसे पहले नस चढ़ने के कारण जान लीजिए

1. शरीर में पानी की कमी।
2. ब्लड में पोटेशियम, कैल्शियम की कमी।
3. मिनरल्स की मात्रा कम होना।
4. ज्यादा शराब पीना।
5. किसी बिमारी के कारण कमजोरी होना। 

ये करें उपाय
नस पर नस चढ़ने की सबसे ज़्यादा परेशानी उन लोगों में देखी जाती है जिनके शरीर में पोटेशियम की मात्रा कम होती है। अगर आप भी इस परेशनी से जूझ रहे हैं तो 
अपनी डाइट में केला शामिल करे। इसमें पोटेशियम की मात्रा काफी ज्यादा पाई जाती है। इसके अलावा शकरकंद, संतरे का जूस, चुकंदर, आलू, खजूर, दही, टमाटर का नियमित सेवन भी आपको इस परेशानी से बचा सकता है। सर्दी के दिनों में रात को सोते समय सरसों के तेल की मालिश करने से भी आपको आराम मिल सकता है। इससे मांसपेशियां मजबूत होती है। 
कई बार नस चढ़ने पर बहुत दर्द महसूस होता है। ऐसी स्तिथि में जिस जगह नस पर नस चढ़ी है, वहां बर्फ से सिकाई करें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा। लेकिन अगर दर्द असहनीय है तो नमक की पोटली बनाकर गर्म सिकाई भी कारगर हो सकती है। नस चढ़ने पर पुदीने का सेवन और इसके तेल से मालिश करना भी फायदेमंद साबित होता है। हल्दी वाले दूध का सेवन नस चढ़ने की समस्या को दूर कर सकता है।