ब्लैक फंगस के इलाज के लिए IIT हैदराबाद ने बनाया किफायती ओरल साल्यूशन, 60 मिलीग्राम की दवा की कीमत 200 रुपए

 31 May 2021 03:16 PM

हैदराबाद। देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब कुछ कम होती नजर आ रही है। संक्रमितों के डेली आंकड़े इस बात की तस्दीक करते हैं। वहीं बात की जाए मौतों की संख्या की तो यह अभी भी चिंताजनक बनी हुई। देश में रोजाना करीब 3500 लोगों की कोविड से मौत हो रही है। इन सबके बीच ब्लैक फंगस ने सरकार की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। कई राज्यों ने तो इसे महामारी घोषित कर दिया है। 

बेहद किफायती है सॉल्यूशन
ब्लैक फंगस का इलाज काफी महंगा है, यही नहीं इसके इलाज में इस्तेमाल होने वाला इंजेक्शन भी आसानी से नहीं मिल रहा है। इस बीच आईआईटी हैदराबाद से एक अच्छी खबर सामने आयी है। आईआईटी हैदराबाद के रिसर्चर्स ने ब्लैक फंगस के इलाज में कारगर एक सॉल्यूशन तैयार किया है। इस सॉल्यूशन को मरीज को मुंह के जरिए दिया जाएगा। दो साल की रिसर्च के बाद रिसर्चर को इस सॉल्यूशन पर अब पूरी भरोसा है। उनका मानना है कि इसे बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए दिया जा सकता है। इस सॉल्यूशन की एक और खास बात है कि यह बेहद किफायती है। 60 मिलीग्राम की इस टैबलेट की कीमत सिर्फ 200 रुपये है।

पिछले दो साल से हो रहा था काम
आईआईटी हैदराबाद में इस सॉल्यूशन पर पिछले दो साल से प्रोफेसर सप्तऋषि मजूमदार, डॉ. चंद्र शेखर शर्मा और उनके पीएचडी स्कॉलर मृणालिनी गेधाने और अनंदिता लाहा काम कर रहे थे। संस्थान ने कहा कि दो साल के अध्ययन के बाद रिसर्चर इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि इस प्रौद्योगिकी को बड़े स्तर पर उत्पादन के लिए उचित फार्मा साझेदारों को हस्तांतरित किया जा सकता है। उसने कहा फिलहाल देश में ब्लैक और अन्य तरह के फंगस के इलाज के लिए कालाजार के उपचार का इस्तेमाल किया जा रहा है तथा इसकी उपलब्धता और किफायती दर को देखते हुए इस दवा के आपात और तत्काल परीक्षण की अनुमति दी जानी चाहिए।