कालोनी कैंपस में किशोर नाइट, पार्क बॉलकनी में बैठ ऑडियंस ने सुने गीत

 14 Oct 2020 12:31 AM  171

कोरोना के चलते पिछले आठ माह से सांस्कृतिक व मनोरंजन की गतिविधियां पूरी तरह से ठप हो गई थीं। अनलॉक के बाद भी हालात यह है कि लोग बाहर घूमनेफिर ने आम दिनों की तरह नहीं जा सकते। यदि आयोजन हो भी रहे हैं तो सोशल डिस्टेंसिंग के चलते 100 से अधिक लोगों को कार्यक्रम में प्रवेश नहीं दिया जा सकता। ऐसे में लोगों को बोरियत का एहसास बहुत ज्यादा होने लगा है, लेकिन कहते हैं ना, जहां चाह वहां राह। सिटी के कॉलोनीवासियों ने अपनी इस समस्या का निदान तलाश लिया है। वे अब अपने कैंपस में ही ऐसे आयोजन कर रहे हैं, जो कि कोरोना के पहले तक शहर के ऑडिटोरियम में हुआ करते थे।

पार्क में हुई संगीत संध्या

ऐसा ही एक आयोजन वीवा इवेंट्स ने किशोर कुमार की पुण्यतिथि व दिवंगत बाला सुब्रह्मणयम को श्रद्धांजलि स्वरूप नेहरू नगर की गोमती कॉलोनी में आयोजित किया। कॉलोनी के पार्क नंबर-5 में मंगलवार को सुबह से ही रौनक थी, क्योंकि अनलॉक के बाद पहली बार यहां गीतसं गीत की शाम सजने वाली थी। हर परिवार इस उत्साह में था कि शाम को उन्हें किशोर के गीतों की स्वरलहरियां सुनने को मिलेंगी।

सुनाए 63 से लेकर 70 के दशक के नगमे

वीवा इवेंट्स के सिंगर अनिल नागरूरकर ने गोमती रहवासी समिति के अध्यक्ष सुधीर जैन के साथ मिलकर यह प्लान किया कि कॉलोनीवासियों के मनोरंजन का इंतजाम कैंपस में ही किया जाए। जिससे बहुत दिनों का सन्नाटा और बोरियत दूर हो सके। इस मौके पर सिंगर अनिल ने कोई होता जिसको अपना..., ये दर्द भरा अफसाना, भौरों की गुंजन..., दीवानी-दीवाना, तेरे मेरे बीच में जैसे कई नगमे सुनाए। पूजा दीक्षित व प्रवीण कश्यप ने भी गीत सुनाए। कुल 20 गानों की प्रस्तुति दी गई।

जिंदगी सामान्य महसूस हुई

यह पहला मौका था, जब हमने कॉलोनी में इतना अच्छा कार्यक्रम सुना। सरकार के कई सम्मानों से सम्मानित सिंगर अनिल और साथियों ने बेहतरीन नगमें सुनाए तो दिल खुश हो गया। मुझे लगता है कि अब अपने स्तर पर भी सभी को मिल-जुलकर मनोरंजन का इंतजाम करना होगा, ताकि कोरोना से भी बचे रहें और जिंदगी भी सामान्य महसूस हो।