बहरा की कहानी से दूर हुई लॉकडाउन की मायूसी

 26 Nov 2020 01:50 AM

‘विश्व रंग-2020’ के अंतर्गत आयोजित पहले बाल साहित्य, कला और संगीत महोत्सव के चौथे दिन देबस्मिता दास ने स्टोरीटेलिंग के नए अंदाज से सभी को अवगत कराया। इस दौरान देबस्मिता दास ने बहरा की कहानी के साथ उन्होंने स्टोरीटेलिंग की शुरुआत करते हुए बताया बहारा एक लड़की है, जो अपने जन्मदिन पर बहुत खुश है और गिटार की मांग करती है। इसी बीच कोरोना के चलते लॉकडाउन लग जाता है और बहारा अपना जन्मदिन नहीं मना पाती। उसके पापा घर से ही काम कर रहे हैं और उसके पास कोई दोस्त नहीं है। उसके घर के लोग उसे मनाने की कोशिश करते हैं। इसके बाद बहारा आॅनलाइन बर्थडे पार्टी की प्लानिंग करती है और उसके सभी दोस्तों को निमंत्रण भेज दिया जाता है। सभी मिलकर बहुत ही शानदार तरीके से बहारा का जन्मदिन मनाते हैं। सभी बहारा की बहुत तारीफ करते हैं।