वायुक्षेत्र के कलाबाज हैं फाइटर पायलट

 06 Apr 2021 12:39 AM

वायुसेना के कुशल एवं प्रशिक्षित फाइटर पायलट युद्ध के हालात में ऊंचे आकाश से शत्रु को जमींदोज करने में जो सटीक हमला करते हैं, वह उनकी देश भक्ति तथा कुशलता का प्रमाण तो होता ही है। लेकिन लड़ाकू विमानों को अपने नियंत्रण में रखते हुए देश की और खुद की सुरक्षा का भी आत्मविश्वास होता है। इसके अलावा नियमित उड़ानों के साथ साथ प्रशिक्षण का भी परिणाम भी होता है। यह सब दिखाया सैन्य फिल्म ‘आर्टिस्ट आॅफ द स्काई’ के जरिए। फिल्म्स डिवीजन आॅफ इंडिया द्वारा प्रस्तुत और शांति वर्मा निर्देशित इस फिल्म का प्रदर्शन शौर्य स्मारक के मुक्ताकाश मंच पर सोमवार शाम किया गया। फिल्म में दिखाया कि वायुसेना के ये जांबांज जब हवा से शत्रु पर आक्रमण करते हैं तो इनका निशाना अचूक होता है।परंतु इस सफलता के पीछे इनका दृढ़ निश्चय एवं प्रयासों की गंभीरता मायने रखती है। युद्धकाल के अलावा शांतिकाल में ये पायलट अपनी कुशलता निखारने के लिए निरंतर कोशिशें जारी रखते हैं। इसी के कारण इनकी सधी हुई निगाहें और मजबूत बाहें सटीक निशाना लगाने में सफल होती है। नियमित उड़ानों के दौरान इन्हें अपने विमानों को आसमान की ऊंचाई तक ले जाकर आक्रमण और बचाव के तरीकों को सटीक करना होता है। तरह-तरह की कलाबाजियां उड़ते हुए लड़ाकू विमानों से करने की प्रक्रिया अपनानी होती है।