मेड इन इंडिया मार्केट से मनेगी हिंदुस्तानी दिवाली

 27 Oct 2020 12:26 AM

I AM BHOPAL ।  देशभर में इस साल दिवाली को हिंदुस्तानी दिवाली के रूप में मनाने की व्यापक तैयारी शहरवासियों ने लगभग कर ली है। फेस्टिव सीजन में लंबे समय बाद रौनक आई है। साथ ही दीवाली की तैयारी शुरू हो गई हैं। ऐसे में दीवाली पर घरों को जगमगाने के लिए झालरों का बाजार भी तैयार हो गया है। पीएम मोदी की अपील पर ‘ वोकल फॉर लोकल’ को सपोर्ट कर रहे हैं। बाजार में चीन की झालरों को टक्कर देने के लिए स्वदेशी झालर की डिमांड तेजी से बढ़ी है। साथ ही वोकल फॉर लोकल का मैसेज लेकर शहरवासी इस साल सिर्फ मेड इन इंडिया प्रोडक्ट्स ही सेल करेंगे और सपोर्ट करेंगे।

दिवाली पर इनकी होती है डिमांड 

दिवाली के त्योहार को देखते हुए हर वर्ग का व्यापारी अपनी तैयारी कर रहा है। इस अवसर पर मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक एवं इलेक्ट्रिकल सामान, खिलौने, होम फर्निशिंग, किचन एक्सेसरीज, गिμट आइटम्स, घड़ियां, रेडीमेड गारमेंट्स, डिजाइनर कपड़े, फुटवियर, कांस्मेटिक्स, ब्यूटी प्रोडक्ट्स, फर्नीचर, एफएमसीजी प्रोडक्ट्स, कंस्यूमर ड्युरेबल्स, आॅफिस स्टेशनरी के समान ज्यादा बिकते हैं। इस दिवाली घर, दुकान, आॅफिस सजाने का सामान आदि भी बड़ी मात्रा में बिकने की संभावना है। इस साल मार्केट में मेड इन इंडिया प्रोडक्ट्स की डिमांड भी सबसे ज्यादा रहेगी।

 मोबाइल एक्सेसरीज में चाइना ब्रांड को टक्कर 

मोबाइल एक्सेसरीज सेलर सनी मदनानी ने बताया कि पहले मैं मोबाइल से जुड़ी चाइनीज एक्सेसरीज सेल करता था। अभी पिछले कुछ महीनों में कस्टमर में वोकल फॉर लोकल प्रोडक्ट्स की डिमांड को देखते हुए मैंने भी जेब्रोनिक्स जैसी इंडियन कंपनी की मोबाइल एक्सेसरीज को सेल करना शुरू किया है। जब से मेड इन इंडिया प्रोडक्ट्स सेल करना शुरू किया है , मेरी सेल्स पर भी फर्क पड़ा है। इंडियन प्रोडक्ट्स की डिमांड भी बड़ी है और खास बात है कि अब वे वॉरंटी और गारंटी के साथ प्रोडक्ट्स मेन्युफैक्चर कर रहे हैं, जो कि अच्छी बात है । इससे हम चाइनीज प्रोडक्ट्स को टक्कर देने में सक्षम हुए हैं।

 वोकल फॉर लोकल को सपोर्ट करती हू 

फैशन डिजाइनर रुश्री मेहराने बताया कि दिवाली और करवा चौथ जैसे त्यौहार को देखते हुए मेरे पास ट्रेडिशनल ड्रेसेस बनाने की डिमांड आई है। ऐसे में इस समय ट्रेंडिंग में गरारा और लहंगे डिजाइन किए है। कुछ क्लाइंट्स जो मॉल्स में जाकर शॉपिंग प्रिफर करते थे वे अब वोकल फॉर लोकल को ध्यान में रखते हुए ड्रेसेस डिजाइन कराने के लिए फैशन डिजाइनर को रुख कर रहे हैं। ज्यादातर डिजाइन कस्टमाइज होती है और कस्टमर भी अपने हिसाब से ड्रेस बनवाना चाहता है। वोकल फॉर लोकल एक अच्छा जरिया है हम फैशन डिजाइनर्स के लिए भी जिन्हें नए और अच्छे डिजाइन एक्स्प्लोर करने का मौका मिलेगा।

 लोकल सीरीज हो रहीं तैयार  

सीरीज (झालर) का काम करने वाले कुणाल परियानी ने बताया कि पिछले साल स्वदेशी झालरों की मांग में तेजी आई थी। इसको देखते हुए मैंने इस बार स्वदेशी झालरों का दो माह पहले ही आर्डर दे दिया था। उम्मीद है कि स्वदेशी झालरों की पिछले साल से अच्छी डिमांड रहेगी। कई व्यापारियों ने स्वदेशी झालरों का आर्डर बुक करा रखा है। इस साल डिमांड मेड इन इंडिया झालर की है और चाइनीज के मुकाबले यह अच्छी भी होती है। सबसे बड़ी बात ये है कि यह रिपेयर भी करवाई जा सकती है। इस समय देश की आर्थिक सुधार के लिए वोकल फॉर लोकल को सपोर्ट करने की जिम्मेदारी हम सबकी है और इसके लिए सभी को एक साथ होने का समय है।