गदबा जनजाति के पारंपरिक आवासों में दिखी ओडिशा की झलक

 20 Nov 2020 12:39 AM

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय द्वारा अपनी ऑनलाइन प्रदर्शनी श्रृंखला के तेइसवें सोपान के तहत ओडिशा की गदबा जनजाति का पारंपरिक आवास से सम्बंधित विस्तृत जानकारी तथा छाया चित्रों एवं वीडियों को ऑनलाइन प्रस्तुत किया गया। इस संदर्भ में संग्रहालय के निदेशक डॉ. प्रवीण कुमार मिश्र ने बताया कि संग्रहालय के जनजातीय आवास मुक्ताकाश प्रदर्शनी में स्थित ओडिशा की गदबा जनजाति का पारंपरिक आवासों के समूह और आदिवासी और ग्रामीण समाजों की पारंपरिक आजीविका एवं आवास प्रतिमानों को दशार्ती है।

यहां से आए थे इनके पूर्वज

इस सम्बन्ध में सहायक कीपर डॉ पी शंकर राव ने आगे बताया कि गदबा ओडिशा के उन आदिवासी समुदायों में से एक हैं, जिन्हें मुंडारी या कोलरियन भाषा समूह में वगीर्कृत किया गया है।गदबा लोगों को पहाड़ी क्षेत्रों मे पालकी वाहक के रूप में भी जाना जाता है । ऐसा कहा जाता है कि इनके पूर्वज गोदावरी नदी क्षेत्र से नंदपुर में आकार बस गए, जो कि जेपोर के राजा की पूर्व राजधानी थी ।