‘वांचो’ बनाने में ताड़ व बांस के पत्तों का होता है उपयोग

 16 Oct 2020 01:00 AM  68

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय द्वारा अपनी आनलाइन प्रदर्शनी श्रृंखला के तहत गुरुवार को आनलाइन प्रदर्शनी का आयोजन किया। इसमें उत्तरी नागालैंड सीमा पर पोंचाउ और वाक्का क्षेत्र से लाए गए ‘वांचो’ आवास को आनलाइन प्रस्तुत किया गया। संग्रहालय के निदेशक डॉ. प्रवीण कुमार मिश्र ने बताया कि वांचो नागा जनजाति के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने बताया कि वांचो बनाने में मुख्य रूप से बल्ली और खंभे के साथ छत के लिए बांस और ताड़ के पत्ते का उपयोग किया जाता है।