Breaking News

शिव-पार्वती वंदना में समुद्र मंथन वृतांत किया प्रस्तुत

 22 Jul 2021 02:13 PM

एकाग्र श्रृंखला 'गमक' का ऑनलाइन प्रसारण सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर किया जा रहा है। श्रृंखला के अंतर्गत बुधवार को उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी द्वारा कमलेश तिवारी और साथी कलाकारों का ध्रुपद गायन और नेहा जैन द्वारा कथक नृत्य प्रस्तुति का प्रसारण विभाग के यूट्यूब चैनल पर किया गया। प्रस्तुति की शुरुआत कमलेश तिवारी द्वारा ध्रुपद गायन से हुई, जिसमें कमलेश ने राग भूप में आलाप जोड़ झाला। इसके पश्चात शूल ताल में बंदिश प्रस्तुत की। दूसरी प्रस्तुति डॉ. नेहा जैन द्वारा कथक नृत्य हुई, जिसमें बिंदादीन महाराज द्वारा रचित शिव-पार्वती वंदना में मध्य में गत के माध्यम से समुद्र मंथन वृतांत प्रस्तुत किया गया। उसके बाद तीनताल में निबद्ध परंपरागत कथक में उठान, ठाठ, आमद, तोड़े, परन, तिहाई, कवित्त एवं ठुमरी पर भाव प्रदर्शन कर प्रस्तुति को विराम दिया। प्रस्तुति में गीत के बोल सरमिष्ठा के थे। तबला लोकेश मालवीय, हारमोनियम रमेश पुरी गोस्वामी और सारंगी वादन संतोष मिश्रा का था।