सादगी पसंद स्मिता पाटिल को निधन के बाद दुल्हन की तरह किया गया था विदा

 17 Oct 2020 01:09 AM  94

आज बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा स्मिता पाटिल का 70 वां जन्मदिन है। स्मिता पाटिल का फिल्मी सफर महज 10 साल का रहा, लेकिन उन 10 सालों में भी स्मिता ने अपनी दमदार एक्टिंग से सबका दिल लूटा। 1974 में एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में कदम रखने के बाद स्मिता पाटिल ने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। यह उनकी दमदार एक्टिंग का ही कमाल था कि वह कुछ ही सालों में न सिर्फ हिंदी बल्कि मराठी सिनेमा का भी नामी चेहरा बन गई। महज 10 साल के कॅरियर में उन्होंने करीब 80 फिल्में की, जिनमें से ज्यादातर हिट रहीं। कॅरियर शुरू करने के महज चार सालों के अंदर ही उन्होंने अपना पहला नेशनल अवॉर्ड जीत लिया था। साल 1977 में उन्हें फिल्म 'भूमिका' के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला, वहीं साल 1980 में फिल्म 'चक्र' ने उन्हें यह अवॉर्ड दिलाया। साल 1985 में उन्हें पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया था । निधन के बाद दुल्हन की तरह विदा किया गया: मैथिली राव ने अपनी किताब में लिखा है कि राज कुमार को लेटकर मेकअप कराते देख स्मिता भी अपने मेकअप मैन से वैसे ही मेकअप करने को कहतीं। उनके मेकअप आर्टिस्ट ने मेकअप करने से ये कहते हुए मना कर दिया कि, ऐसा लगेगा जैसे किसी मुर्दे का मेकअप कर रहे हैं। तब स्मिता ने कहा था जब मैं मर जाऊंगी तो मुझे सुहागन की तरह तैयार करना।13 दिसंबर 1986 के दिन स्मिता के निधन के बाद मेकअप मैन ने आखिरी इच्छा पूरी करते हुए उनके शव को दुल्हन की तैयार किया था।