खुद को स्ट्रेस फ्री रखने कोई कर रहा वर्चुअल रनिंग तो कोई देख रहा अवॉर्ड विनिंग मूवीज

 05 Apr 2021 12:45 AM

अप्रैल माह को इंटरनेशनल स्ट्रेस अवेयरनेस मंथ के रूप में मनाया जाता है। इस समय कोविड की दूसरी लहर के कारण लोग फिर से तनाव में आ चुके हैं और पिछला साल टेंशन व यह साल स्ट्रेस का एक्सटेंशन बन चुका है। लोगों को अब फ्रिक है कि अगले साल तक यह स्थिति कायम न रहे। तनाव से निपटने के लिए लोग अपने-अपने तरीके आजमा रहे हैं। पिछले साल से कोई अपनी पुरानी हॉबी को फिर चालू कर चुका है तो किसी ने अपनी फिटनेस की तरफ ध्यान दिया है। वहीं लोग अब वर्चुअल फिटनेस चैलेंज, वर्चुअल साइकिलिंग जैसी एक्टिविटीज भी करने लगे हैं, ताकि वे परिस्थितियों के कारण उपजे तनाव से खुद को मुक्त रख सकें।

दिन की शुरुआत में यह स्टेप फॉलो करें

अगर सुबर उठने पर आलस महसूस करते हैं तो दिनभर के बारे में सोचने से पहले अपने रूटीन में थोड़ा योगा और स्ट्रेचिंग शामिल करें ताकि दिन की शुरुआत आराम से हो। स्ट्रेचिंग अधिक लचीला बनने, चोट से बचने, आपके दिमाग को शांत रखने और तनाव दूर करने में आपकी मदद कर सकती है।

आप गाइडेड मेडिटेशन को सुनें, पत्र-पत्रिका पढ़ें, प्रार्थना करें या मॉर्निंग वॉक (मूवमेन्ट मेडिटेशन) के लिए जाएं। खुद के लिए कुछ मिनट निकालें, ताकि आपके दिन की शुरुआत इस भावना से हो कि आपके सामने जो भी आए, आप उसके लिए तैयार हैं।

खाली पेट काम करने से आपकी एकाग्रता प्रभावित हो सकती है और सुबह ही आपकी ऊर्जा का स्तर कम हो सकता है। इसलिए सुबह ऊर्जा देने वाला नाश्ता करें। दिन का भोजन समय पर करें और रात का भोजन समय पर करें ।

स्ट्रेस फ्री रहने के लिए कॉमेडी मूवी देखते हैं

स्ट्रेस फ्री रहने के लिए मैं अपनी फैमिली के साथ कॉमेडी फिल्में देखता हूं। संडे लॉकडाउन वाले दिन हम अवॉर्ड विनिंग मूवीज देखते हैं। बेटे को कार्टून देखना पसंद है और उसके साथ मैं भी कार्टून फिल्में देखता हूं। बच्चे के साथ क्रिकेट खेलता हूं। अपने आप को स्ट्रेस फ्री रखना बड़ा चैलेंजिंग होता है इसलिए फैमिली के साथ टाइम स्पेंड करने के साथ उनके साथ फन एक्टिविटी में साथ देता हूं।

भाई के साथ डांस करती हूं

स्ट्रेस इस समय सभी को हो रहा है। चाहे कॅरियर को लेकर हो या फिर जॉब को लेकर। मैंने भी स्ट्रेस फ्री रहने के लिए फनी तरीके निकाल लिए है। मैं अपने घर में ही छोटे भाई के साथ साथ डांस करती हूं। घर पर जैसे बर्तन धोना हो या फिर साफ सफाई वो तब तक नहीं होगा जब तक गाने नहीं बजेंगे। इससे काम में भी मन बना रहता है और स्ट्रेस भी नहीं महसूस होता। कई बार वर्चुअल रनिंग भी कर लेती हूं।