टीवी पर फिल्म देखना अलग एक्सपीरियंस होगा

 15 Oct 2020 12:51 AM  138

एंड पिक्चर्स भी अब ओरिजिनल सिनेमा प्रोड्यूस करने की फील्ड में आ चुका है। इसके तहत उनकी पहली सायकोलॉजिकल फिल्म ‘फुट फेरी’ आ रही है। इसके जरिए ‘चक दे इंडिया’ फेम सागरिका घाटगे की वापसी हो रही है और उनके अपोजिट गुलशन देवैया नजर आएंगे। यह फिल्म न तो सिनेमाघरों और न डिजिटल, बल्कि सीधे सैटेलाइट यानी टीवी पर रिलीज हो रही है। फिल्म का प्लॉट सीबीआई अफसर और अंधविश्वासी सीरियल किलर के बीच ‘कैट एंड माउस चेस’ पर बेस्ड है। गुलशन इसमें सीबीआई अफसर के रोल में हैं। उन्होंने आईएम भोपाल से खास बातचीत में शेयर किए फिल्म से जुड़े किस्से। फिल्मों का टीवी पर रिलीज होना नया बिजनेस मॉडल उन्होंने कहा- मुझे नहीं लगता कि टेलीविजन पर फिल्म डायरेक्ट रिलीज होने से थिएटर को नुकसान होगा। देश में वैसे भी टीवी को बहुत ज्यादा माना जाता रहा है। हमेशा से माना गया है कि टीवी का ही सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है। ओटीटी प्लेटफॉर्म पर भी फिल्में रिलीज हो रही हैं और ऐसे में बॉक्स आफिस की तलवार जब लटकती है तो सभी महसूस करते हैं कितनी घबराहट होती है। ओटीटी और टीवी ने फिल्मों को डायरेक्ट रिलीज करने का यह नया बिजनेस मॉडल है जो सिनेमा के लिए अच्छा साबित होगा।

डिप्रेशन को बीमारी के तौर पर स्वीकार करें

डिप्रेशन को एक बीमारी के रूप में स्वीकार करने की बजाए लोग इसे एक मानसिक अवस्था के तौर पर लेते हैं। मुझे लगता है कि डिप्रेशन को एक बीमारी के तौर पर स्वीकार करने में समस्या है, क्योंकि ज्यादातर लोग सोचते हैं कि यह केवल मन की एक अवस्था है या यह एक भावना है। डिप्रेशन का उपयोग किसी चीज पर प्रतिक्रिया देने की अभिव्यक्ति के तौर पर होता है। जब किसी मेंटल हेल्थ प्रैक्टिशनर या डॉक्टर द्वारा डिप्रेशन की पहचान की जा रही है तो जाहिर है कि यह एक बीमारी है। इसका किसी बीमारी जैसे कैंसर या टी.बी. की तरह इलाज होना चाहिए।