भारत-पाकिस्तान में यात्रा करने से बचें अमेरिकी लोग

 28 Jan 2021 02:14 AM

वॉशिंगटन। अमेरिका की नई सरकार द्वारा जारी ट्रैवल एडवाइजरी में भारत का भी जिक्र है। जो बाइडेन प्रशासन ने अपने नागरिकों से कहा है कि मौजूदा समय में उन्हें भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान की यात्रा से बचना चाहिए। एडवाइजरी में कहा गया है कि कोरोना महामारी और आतंकवाद के मद्देनजर इन देशों की यात्रा की योजना पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए। इसके अलावा, सरकार कई अन्य देशों पर ट्रैवल बैन भी लगाने की तैयारी कर रही है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि भारत में कोरोना वायरस के मामले लगातार कम हो रहे हैं, लेकिन अभी भी भारत लेवल 4 में आता है जो यात्रा के लिहाज से सबसे खराब है। दक्षिण एशिया के चार देशों के लिए ट्रैवल एडवाइजरी को अपडेट करते हुए अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने यात्रा परामर्श जारी किए। इन परामर्शों में कहा गया है कि कोरोना, आतंकवाद और जातीय हिंसा की वजह से पाकिस्तान की यात्रा करने से बचा जाना चाहिए।

H-1B वीजाधारकों के जीवनसाथी भी कर पाएंगे अमेरिका में नौकरी

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बुधवार को अमेरिका में काम कर रहे एच-1बी वीजा प्राप्त करने वाले दंपति को बड़ी राहत दी है। बाइडन प्रशासन ने इसके अंतर्गत एच-1बी वीजाधारक कर्मचारियों के एच-4 वीजाधारक दंपति को काम जारी रखने की अनुमति प्रदान कर दी है। इससे पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के शासन में एच-1बी धारक दंपतियों को इस बात की आशंका बनी हुई थी कि अमेरिका में चार साल बिताने के बाद पता नहीं उन्हें आगे आगे काम करने की अनुमति मिल पाएगी या नहीं, लेकिन बाइडन प्रशासन के इस फैसले से उन्होंने राहत की सांस ली है। उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने भी ट्रंप के फैसले पर आपत्ति जताते हुए कहा था कि यह अपमानजनक है।