इंडोनेशिया में कोरोना से एक हफ्ते में गई 100 बच्चों की जान

 27 Jul 2021 12:37 AM

जकार्ता इंडोनेशिया में बीते एक सप्ताह में 100 से ज्यादा बच्चों की कोरोना से मौत हो गई। स्वास्थ्य अधिकारी इन मौतों का कारण डेल्टा वैरिएंट बता रहे हैं। इनमें कई बच्चों की उम्र पांच साल से कम है। यह विश्व के अन्य देशों के मुकाबले काफी ज्यादा है। 27.64 करोड़ की आबादी वाले इंडोनेशिया में कोरोना के अब तक 31.94 लाख संक्रमित मिले हैं। इनमें से 12.5 फीसदी बच्चे हैं। वहीं अब तक कोरोना से 84 हजार से ज्यादा की मौत हुई है। पूर्वी एशियाई देश में महामारी शुरू होने के बाद से 800 बच्चे मारे जा चुके हैं। इनमें से अधिकांश बच्चों की मौत पिछले माह हुई है। इंडोनेशिया में बच्चों की मौत से कोहराम मच गया है और लोग इसे सरकार की विफलता बता रहे हैं। लोगों में गुस्सा है कि सरकार की ओर से तीसरी लहर के खतर को देखते हुए पहले से तैयारियां नहीं की गई।

ऑक्सीजन की भारी किल्लत

इंडोनेशिया के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी किल्लत होने लगी है। इसबीच भारत सरकार की ओर से 300 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और सौ मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई की गई है।

डेल्टा की वजह से आएगी तीसरी लहर

इधर पिछले हμते में दुनियाभर में 4 लाख से ज्यादा कोरोना मरीज आए हैं। इस आंकड़े के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चिंता जताते हुए माना है कि विश्व के कई देशों में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक वैरिएंट आॅफ कंसर्न यानी डेल्टा का तेजी से फैलना, कोरोना प्रोटोकॉल में ढील देना और दुनिया में वैक्सीनेशन की रμतार धीमी होने से मामले बढ़ रहे हैं। एक माह पहले जहां मौतों में गिरावट दर्ज की गई थी, वहीं पिछले दो हμते से मौतों का आंकड़ा फिर बढ़ने लगा है।1111

पिछले हμते यहां बढ़े मरीज

􀂄 इंडोनेशिया में साढ़े 3 लाख से ज्यादा केस दर्ज किए गए।

􀂄 ब्रिटेन में 3 लाख मामले आए.

􀂄 ब्राजील में 3 लाख से कुछ कम केस दर्ज हुए।

􀂄 भारत में पिछले सप्ताह 2 लाख 68 हजार केस दर्ज हुए हैं।

􀂄 अमेरिका में कोरोना के 2,16,433 मामले दर्ज हुए हैं।
 

एक महीने में दुनियाभर में 75 फीसदी के केस डेल्टा के

पिछले एक महीने में डेल्टा वेरिएंट 75 प्रतिशत बढ़ गया है। ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, चीन, भारत, इंडोनेशिया, इजरायल, साउथ अफ्रीका और यूके जैसे देशों में ये तेजी से फैल चुका है। वहीं इंडोनेशिया, थाईलैंड और म्यांमार में भी केस बढ़ रहे हैं।