एक साथ 10 बच्चों को जन्म देकर अफ्रीकी महिला ने बनाया रिकॉर्ड, 29 सप्ताह के गर्भ के बाद दिया बच्चों को जन्म

 10 Jun 2021 12:04 PM

गोटेंग, दक्षिण अफ्रीका। दक्षिण अफ्रीका के नौ में से एक प्रांत गोटेंग (Gauteng) की एक महिला ने दस बच्चों को एक साथ जन्म देकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। अब तक ये रिकॉर्ड माली की हलीमा सिसे के नाम था जिसने पिछले माह माह नौ बच्चों को एक साथ जन्म दिया था। एक साथ सबसे अधिक बच्चों को जन्म देने वाली महिला का नाम गोसेम थमारा सिथोले (Gosiame Thamara Sithole) है। 37 वर्षीय सिथोले ने इन बच्चों को प्रिटोरिया के अस्पताल में जन्म दिया है। सिथोले ने सात लड़कों और तीन लड़कियों को जन्म दिया है। सिथोले ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि उसने किसी भी तरह का फर्टिलिटी ट्रीटमेंट नहीं लिया था। एजेंसी के मुताबिक 29 सप्ताह के गर्भ के बाद उसने इन बच्चों को जन्म दिया है। 

सिथोले के पति Teboho Tsotetsi ने एजेंसी को बताया कि वो इसको लेकर काफी भावुक है और बेहद खुश भी है। खुशी के मारे वो कुछ कह नहीं पा रहा है। टेंबिसा के अपने घर पर Teboho Tsotetsi कि वो अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर काफी हैरान था। हालांकि, उसने ये कहा कि कुछ रीति-रिवाजों को निभाने की वजह से उसने इस खबर को बाद में उजागर किया था। उसने बताया कि डॉक्टरों ने इससे पूर्व सिथोले की जांच के दौरान इस बात की संभावना जताई थी कि वो एक साथ छह बच्चों को जन्म दे सकती है, लेकिन उसके बाद हुए स्कैन में कुछ और ही दिखाई दिया।

सिथोले ने बताया कि वो भी अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर शुरूआत में काफी हैरान और परेशान थी। शुरूआती दिनों में ये काफी मुश्किल भी था। वो कफी कमजोर महसूस करती थी। उसके लिए सबकुछ काफी मुश्किल हो रहा था। उसने बताया कि शुरूआती दिनों में वो इसको लेकर जहां परेशान थी, वहीं बाद में वो इसकी आदी हो गई थी। बाद में उसको कोई दर्द भी नहीं होता था, लेकिन ये काफी मुश्किल जरूर था। उसने बताया कि वो भगवान से दुआ मांगती थी कि बच्चों के जन्म के समय वो उसकी मदद करे और उसके बच्चों को सही-सलामत रखे। उसने बताया कि वो अब काफी खुश है।

एक रिटेल स्टोर मैनेजर ने बताया कि जब सिथोले को दस बच्चों के बारे में पहली बार पता चला था तो वो इसको लेकर काफी परेशान थी। लेकिन उसने उसे समझाया कि परेशान होने की जरूरत नहीं है। यदि उसके ज्यादा बच्चे हुए तो भी वो 2 या 3 ही होंगे, इसे अधिक नहीं। उसने बताया कि शुरूआत में उसने डॉक्टरों के कहे का भी विश्वास नहीं किया था, लेकिन जब उसने स्कैन देखा तब जाकर उसको विश्वास हुआ। सिथोले ने ताया कि बच्चों के जन्म से पहले वो यही सोचा करती थी कि उसके गर्भ में इतने बच्चे कैसे आए और वो कैसे जी सकेंगे। कैसे बाहर आएंगे। कहीं उनके सिर आपस में न जुड़े हों, लेकिन उसके डॉक्टर ने उसको विश्वास दिलाया कि सब कुछ ठीकठाक है।