धरती से 250 मील दूर से गुजरा एस्टेरॉयड

 22 Nov 2020 01:36 AM

वॉशिंगटन। एक ऐस्टरॉइड धरती के बेहद करीब से गुजर गया और स्पेस एजेंसियों को पता भी नहीं चला। यह एस्टेरॉयड धरती से सिर्फ 300 मील से भी कम दूरी से गुजर गया। 2020वीटी4 नाम का एस्टेरॉइड 13 नवंबर को धरती के 250 मील यानि 400 किमी दूर से गुजर गया और एस्ट्रोनॉमर्स को पता नहीं चला। एस्टेरॉयड टेरेस्ट्रिएल इंपैक्ट लास्ट अलर्ट सिस्टम (एटीएलएएस) को इसके बारे में तभी पता चला जब यह धरती से बाहर निकल गया था।

नासा रखता हैनजर

अंतरिक्ष से पृथ्वी की ओर आने वाले उल्का पिंडों पर अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का सेंटरी सिस्टम ऐसे खतरों पर पहले से ही नजर रखता है। बता दें कि आने वाले 100 सालों के लिए फिलहाल 22 ऐसे एस्टेरॉयड्स हैं, जिनके पृथ्वी से टकराने की संभावना कम है।

‘ब्लाइंड स्पॉट’ से आया था यह उल्का पिंड

दरअसल, यह ऐसी जगह से आया था जिसे ‘ब्लाइंड स्पॉट’ कहते हैं यानि यह एस्टेरॉइड सूरज की दिशा से आया था। एस्ट्रोनॉमर्स का कहना है कि यह एस्टेरॉयड धरती से इतना करीब था कि धरती के गुरुत्वाकर्षण ने इसकी कक्षा को बदल दिया। एस्ट्रोनॉमर्स टोनी डन ने बताया, हाल ही में खोजा गया ए10एसएचसीएन एस्टेरॉयड धरती के करीब से दक्षिण प्रशांत महासागर के ऊपर से गुजरा। डन का कहना है कि अभी यह एस्टेरॉयड अभी और भी कई बार धरती के करीब से गुजरेगा।