फिर लौट सकता है कोरोना: सर्दियों में बूंदों के जरिए आसानी से फैलने लगेगा

 15 Oct 2020 07:17 PM  199

लॉस ऐंजिलिस। कोरोना वायरस गर्मियों में एयरोसॉल पार्टिकल्स के जरिए फैल रहा था तो अब सर्दियों में अब स्नायुतंत्र से बाहर आने वाली छोटी बूंदों के जरिए इसका फैलना सर्दियां आने के साथ बढ़ सकता है। इन बूंदो से संपर्क में आने पर कोरोना वायरस इन्फेक्शन का खतरा गहराने की आशंका एक ताजा रिसर्च में जताई गई है। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अभी सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जिन नियमों का पालन किया जा रहा है वे पर्याप्त नहीं हैं। स्टडी में हिस्सा लेने वाले रिसर्चर यानयिंग झू ने कहा कि उनकी स्टडी में ज्यादातर मामलों में यह पाया गया कि ये बूंदें 6 फीट से ज्यादा दूर तक जा सकती हैं। गौरतलब है कि इतनी दूरी अमेरिका की सीडीसी(सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल) ने सुरक्षित बताई है। यह स्टडी नैनो लेर्ट्स जर्नल में छपी है।

वहीं, घर और इमारतों के अंदर वॉक-इन फ्रिज और कूलर या ऐसी जगहें जहां तापमान कम होता है और नमी ज्यादा, वहां ये बूंदें 6 मीटर (19.7 फीट) तक जा सकती हैं। इसके बाद यह जमीन पर गिरती हैं। ऐसे में वायरस कई मिनट से लेकर एक दिन तक संक्रामक हो सकता है। झू ने कहा कि यह एक कारण हो सकता है कि कई जगहों पर मीट प्रोसेसिंग प्लांट से कई लोगों को इन्फेक्शन की खबरें सामने आई हैं।

वहीं, दूसरी ओर गर्म और सूखी जगहों पर ये बूंदें जल्दी भाप में बदल जाती हैं। ऐसे में ये पीछे वायरस के हिस्से छोड़ जाती हैं जो दूसरे एयरोसॉल से मिलती हैं। ये एयरोसॉल बोलने, छींकने, खांसने या सांस लेने से छोड़े गए होते हैं। स्टडी के लीड लेखक लेई झाओ का कहना है कि ये बेहद छोटे हैं, आमतौर पर 10 माइक्रॉन से भी छोटे। ये घंटों तक हवा में रहते हैं जिससे सांस लेने पर यह व्यक्ति को इन्फेक्ट कर सकते हैं।