Breaking News

जासूसों के निशाने पर थे फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों, पाक पीएम इमरान खान समेत 14 नेता

 22 Jul 2021 02:05 AM

बोस्टन पेगासस जासूसी मामले में टैपिंग के टारगेट वाले नामों के लिस्ट लंबी होती जा रही है। विश्व के 14 नेताओं से जुड़े नंबर भी इस लिस्ट में शामिल थे। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और दक्षिण अफ्रीकी के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा समेत 14 विश्व नेताओं का नाम इस लिस्ट में शामिल होने की बात कही जा रही है। लीक हुए डेटाबेस पर 50,000 नंबरों में से कुछ ऐसे लोग भी शामिल हैं जिनके फोन पेगासस स्पाइवेयर द्वारा हैकिंग के लिए टारगेट पर थे। उल्लेखनीय है कि भारत में भी मोदी सरकार पर इस इजराइली स्पाईवेयर के जरिए विपक्षी नेताओं की जासूसी करने का आरोप लगा है। बताया गया है कि पेगासस के भारत में संभावित निशानों की सूची में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पॉलिटिकल स्ट्रैटजिस्ट प्रशांत किशोर और कई पत्रकारों और एक्टिविस्टों के नाम थे, जिसके चलते यहां भी राजनीति गरमाई हुई है।

फ्रांस से शुरू की जांच

इधर फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों का नाम आने पर पेरिस अभियोजक के कार्यालय ने गोपनीयता के उल्लंघन, डेटा के अवैध उपयोग और अवैध रूप से स्पाइवेयर बेचने सहित संभावित आरोपों की जांच शुरू कर दी है। फ्रांसीसी कानून के तहत, जांच में संदिग्ध अपराधी का नाम दर्ज नहीं है, लेकिन इसका उद्देश्य यह निर्धारित करना है कि अंतत: किस पर मुकदमा चलाया जा सकता है। दो पत्रकारों और फ्रांसीसी वेबसाइट मीडियापार्ट की शिकायत के बाद जांच शुरू की गई है।

विवाद के बाद सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी ने कहा, नहीं देंगे मीडिया के सवालों के जवाब

जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस बनाने वाली इजरायली कंपनी एनएसओ ने कहा कि वह अब मीडिया के सवालों का कोई जवाब नहीं देगी। एनएसओ पर आरोप हैं कि कई देशों ने उसके सॉफ्टवेयर का कथित तौर पर कई लोगों की जासूसी करने में इस्तेमाल किया है। कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा, एनएसओ अपनी प्रौद्योगिकियों के दुरुपयोग के किसी भी विश्वसनीय सबूत की पूरी तरह से जांच करेगा, जैसा कि हम हमेशा करते हैं और जहां जरूरी होगा वहां हम सिस्टम को बंद कर देंगे।

छत्तीसगढ़ आई थी कंपनी , जांच समिति गठित: सीएम

जासूसी विवाद के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, हमें जानकारी मिली कि पेगासस बनाने वाली कंपनी के अधिकारी छत्तीसगढ़ आए थे और कुछ लोगों से संपर्क किया था। उन्होंने कहा, हमने एक जांच समिति गठित की है। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह बताएं कि पेगासस अधिकारी किससे मिले और किस तरह का समझौता किया।

कई अफसरों से पूछताछ करेगी थरूर की कमेटी

कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली आईटी मामलों की संसदीय समिति पेगासस से जुड़े मामले पर गृह मंत्रालय समेत कई विभागों के अधिकारियों से पूछताछ करेगी। लोकसभा सचिवालय की अधिसूचना के अनुसार, थरूर के नेतृत्व वाली संसदीय समिति की बैठक 28 जुलाई को निर्धारित है। इस बैठक का एजेंडा नागरिक डाटा सुरक्षा एवं निजता है।

ब्रिटेन: सरकार के खिलाफ स्टोरी की तो होगी 14 साल की जेल

लंदन। ब्रिटेन ने सीधे-सीधे कानून बनाकर जासूसी पर लगाम कसने की रणनीति बनाई है। यहां आॅफिशियल सीक्रेट एक्ट में बदलाव किया जाएगा। सरकार की निंदा करने वाली स्टोरीज के लिए पत्रकारों को 14 साल तक जेल की सजा हो सकती है।

लिस्ट में 7 पुराने नेता भी शामिल

लिस्ट में 7 पुराने नेताओं का भी नाम शामिल है, इन लोगों को तब चुना गया था जब ये लोग कार्यभार संभाल रहे थे। इसमें लेबनान के साद हरिरि, युगांडा के रूहाकाना रुगुंडा, अल्जीरिया के नौरेडिन बेडौई और बेल्जियम के पूर्व प्रधानमंत्री चार्ल्स मिशेल समेत 3 अन्य विश्व स्तरीय नेता शामिल हैं।