नासा के परसेवरेंस ने मंगल ग्रह पर बनाई ऑक्सीजन, जीवन की तलाश में कामयाबी

 23 Apr 2021 01:29 AM

वॉशिंगटन। मंगल ग्रह पर जीवन की खोज में गए अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के परसेवरेंस रोवर ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। इसने मंगल के बेहद पतले वायुमंडल में अक्सीजन बनाने में सफलता हासिल की है। इसके लिए रोवर में खास तरह की डिवाइस लगाई गई थी। दरअसल, जीवन के लिए बेहद जरूरी ऑक्सीजन मंगल के वायुमंडल में 0.2% से भी कम है। ऑक्सीजन बनाने के लिए रोवर में लगाई गई इस डिवाइस का नाम ‘मार्स आॅक्सीजन इन-सीटू रिसोर्स यूटिलाइजेशन एक्प्रेरिमेंट’ यानी एमओएक्सआईई है।

घंटे में 10 ग्राम ऑक्सीजन का लक्ष्य :

अगर यह डिवाइस सही काम करता है तो यह 1 घंटे में 10 ग्राम ऑक्सीजन बना सकेगा। इस बात को लेकर चिंता पर, कि कार्बन मोनो ऑक्साइड का वायुमंडल में होना खतरनाक हो सकता है, एमओएक्सआईई के प्रिंसिपल इंवेस्टिगेटर माइकल हेट ने बताया था, गैस मंगल के वायुमंडल में वापस जाकर आॅक्सीजन से मिल जाएगी और फिर कार्बन डायआॅक्साइड पर बदल जाएगी।