हजारों जान बचाने वाला चूहा रिटायर

 09 Jun 2021 01:26 AM

नई दिल्ली। कंबोडिया में मगावा नाम का चूहा बहादुरी के किस्सों के लिए याद किया जाएगा वो पांच साल की सर्विस के बाद रिटायर होने जा रहा है। इस चूहे ने सूंघने की क्षमता का उपयोग करके 1.4 लाख वर्ग मीटर मतलब तकरीबन 20 फुटबॉल पिच जितनी जमीन को बारूदी सुरंग मुक्त बनाने में सहायता की है और इसी के चलते ये बेहत पॉपुलर है। मगावा अभी तक करीब 71 लैंडमाइन्स और 38 जिंदा विस्फोटकों का भी पता लगा चुका है, मगावा के हैंडलर का कहना है, उसका प्रदर्शन नाबाद रहा है, मुझे उसके साथ काम करने में बहुत गर्व महसूस होता है क्योंकि इतना छोटा होने के बाद भी उसने कई लोगों की जान बचाने में मदद की है। मगावा को ब्रिटिश चैरिटी द्वारा मेडल से सम्मानित किया जा चुका है।

अब थक चुक है मगावा

हैंडलर का कहना है कि मगावा अब थक गया है, हालांकि, वो अब भी काफी फिट है लेकिन उम्र का असर दिखने लगा है। मगावा को जहां लैंडमाइन के विस्फोटक का शक होता है, वहां वो रुक जाता है फिर जमीन को खुरचने लगता। इसके बाद वहां से हट जाता और स्टाफ लैंडमाइन क्लियर कर देता है। कम्बोडिया में गृहयुद्ध के दौरान जंगलों में हजारों की संख्या में बारूदी सुरंगे बिछाई गईं थी। अकसर, यहां के गुजरने वाले लोगों के पैर इनपर पड़ जाते थे और लैंड माइन्स फट जातीं थीं। एक एनजीओ एपीओपीओ ने लैंड माइंस खोजने के लिए मगावा को प्रशिक्षित किया है ।