EXCLUSIVE : 8 करोड़ की वैक्सीन ले जा रहा ट्रक ड्राइवर ऐसे हुआ था गायब, एसपी ने बताई पूरी सच्चाई

 01 May 2021 04:04 PM

पीयूष सिंह राजपूत/जबलपुर. जबलपुर से लगे नरसिंहपुर जिले में वैक्सीन भरे मिले लावारिस ट्रक के ड्राइवर का पता चल गया है। करीब 8 करोड़ रुपए की ढाई लाख वैक्सीन ले जाने वाला ट्रक ड्राइवर विवेक मिश्रा अचानक आपा खो बैठा और बीच रास्ते में ट्रक छोड़कर चला गया। इस घटना को लेकर जांच कर रहे नरसिंहपुर एसपी विपुल श्रीवास्तव ने पीपुल्स समाचार डिजिटल को बताया कि आखिर कैसे ट्रक ड्राइवर करीब ढाई लाख कोरोना वैक्सीन बीच सड़क पर छोड़कर गायब हो जाता है। आइए जानते हैं...

सबसे पहले लोगों ने देखा लावारिस ट्रक

पुलिस के अनुसार करेली के बीच से गुजरे ओल्ड एनएच-26 पर बस स्टैंड के पास ट्रक (टीएन-06-क्यू-6482) शुक्रवार सुबह 8 बजे स्थानीय लोगों ने चालू हालत में देखा। काफी देर तक ट्रक लावारिस देखकर लोगों ने करीब 12.30 बजे इसकी सूचना पुलिस को दी। जानकारी मिलते ही करेली पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस मौके पर पहुंची, ट्रक तब भी चालू था

एनएच-26 पर बस स्टैंड के पास जब पुलिस पहुंची, तो ट्रक चालू था। पुलिसकर्मियों ने जांच की तो होश उड़ गए। ट्रक में मिले दस्तावेजों के मुताबिक भारत बायोटेक कंपनी की करीब 2.4 लाख कोवैक्सीन उसमें लोड थीं। तहसीलदार और जिला टीकाकरण अधिकारी भी वहां पहुंचे। ड्राइवर का फोन पास ही झाड़ियों में मिला।

ट्रक चालू होने से वैक्सीन सुरक्षित

करेली पुलिस ने जांच की तो पता चला कि वैक्सीन से भरा ये ट्रक हैदराबाद से हरियाणा के करनाल जा रहा था। एसपी के निर्देश पर ट्रक की सुरक्षा के लिए जवानों की तैनाती कर ड्राइवर की तलाशी शुरू हुई। लेकिन 7 घंटे तक उसका कोई पता नहीं चला। गनीमत थी कि ट्रक चालू होने से कोल्ड चेन में रखी 2.4 लाख वैक्सीन सुरक्षित रहीं।

ट्रक में सिर्फ ड्राइवर था?

इस मामले को लेकर सबसे बड़ा सवाल ये उठ रहा है कि इतनी महत्वपूर्ण वस्तु ले जा रहे ट्रक को केवल ड्राइवर के भरोसे कैसे छोड़ दिया गया? अक्सर इतने बड़े ट्रक में ड्राइवर के साथ कंडक्टर या हेल्पर होता है।

जीपीएस लोकेशन से ट्रांसपोर्टर को भी हुआ शक

पुलिस के मुताबिक ट्रक से मिले दस्तावेजों के आधार पर ट्रांसपोर्टर से संपर्क करने की कोशिश की गई। ट्रांसपोर्टर ने कहा कि इतनी देर तक एक ही जगह पर ट्रक की लोकेशन दिखने से उनकी भी चिंता बढ़ गई थी। इसके बाद ड्राइवर को दर्जनों कॉल किए गए, पर उसने नहीं उठाए। बाद में ऑपरेटर ने पुलिस से कहा कि वे दूसरा ड्राइवर भेज रहे हैं, तबतक आप ट्रक को सुरक्षा प्रदान करें। शाम को कंपनी द्वारा दूसरा ड्राइवर भेजकर ट्रक रवाना किया गया।

ड्राइवर ग्वालियर भागा, फिर हरियाणा निकला : एसपी

एसपी विपुल श्रीवास्तव ने पीपुल्स समाचार डिजिटल से बातचीत में बताया कि ट्रक ड्राइवर का आज सुबह पता चल गया है। वह अपने एक और साथी ड्राइवर की मदद से ग्वालियर भागा। ग्वालियर जाने के बाद उसने कहा कि वह अपने घर जा रहा है। ड्राइवर ने अपने दोस्त को बताया कि उसके परिवार में किसी की तबीयत बहुत खराब है, पर कंपनी छुट्टी नहीं दे रही थी। ड्राइवर ने भागने से पहले अपना मोबाइल झाड़ियों में फें दिया था। एसपी ने कहा कि ड्राइवर की इस बड़ी लापरवाही पर ट्रांसपोर्ट कंपनी उसके विरुद्ध कार्रवाई करेगी। वहीं कंपनी की ओर से किसी प्रकार की लिखित शिकायत मिलने पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।