वीडियो : मदनमहल स्टेशन पर बनकर तैयार हुई 'आइसोलेशन एक्सप्रेस', कोविड संक्रमितों के लिए 80 बिस्तरों की व्यवस्था

 04 May 2021 03:23 PM

जबलपुर.  मंगलवार को शहर के मदनमहल स्टेशन पर आइसोलेशन एक्सप्रेस का काम पूरा हो गया है। रेलवे द्वारा बनाई गई 80 बिस्तर वाली आइसोलेशन एक्सप्रेस को प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर खड़ा किया गया है। आइसोलेशन एक्सप्रेस को तैयार होने के बाद जिला प्रशासन को सौंप दिया गया है। इससे शहर में अब कोविड मरीजों को बिस्तर मिलने की परेशानी में थोड़ी कमी हो सकती है। (फोटो : आकाश बर्मन)

 

कोच के अंदर हैं ये सुविधाएं

  • हल्के संक्रमण वाले मरीजों के लिए बेड व उपचार व्यवस्था।
  • मरीजों के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था।
  • कोच को ठंडा रखे जाने के लिए कूलर व पंखे।
  • महिला व पुरुष मरीजों के लिए अलग-अलग कोच
  • साथ ही लगे एक कोच में तैनात रहेगा मेडिकल स्टाफ

कोच तक पहुंचने के लिए अलग रास्ता

आइसोलेशन कोच तक पहुंचने के लिए प्लेटफॉर्म नंबर-3 पर अलग से रास्ता बनाया गया है। जिससे स्टेशन से यात्रा करने वाले अन्य यात्री और मरीज संपर्क में न आ सकें। मंगलवार को मदन महल स्टेशन पर इन कोचों की व्यवस्था देखने के लिए मंडल रेल प्रबंधक संजय विश्वास के साथ मंडल के अधिकारी एडीआरएम दीपक कुमार गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एसके मिश्रा सहित वरिष्ठ मंडल यांत्रिकी अभियंता एसके सिंह, मंडल वाणिज्य प्रबंधक देवेश सोनी, संजय पांडे आदि ने मदन महल स्टेशन का निरीक्षण किया।

रोजाना सभी स्टेशन का सैनिटाइजेशन

जबलपुर मंडल के सभी स्टेशनों पर Covid-19 संक्रमण से रेल यात्रियों और रेल कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए नियमित रूप से साफ सफाई एवं सैनीटाईजेशन किया जा रहा है । इसके अलावा आइसोलेशन कोच में भी सफाई, सैनिटाइजेशन व वेस्ट डिस्पोजल के खास बंदोबस्त किए गए हैं।

कटनी में भी रेलवे का कोविड सेंटर

इसके अलावा रेलवे द्वारा जबलपुर मंडल के न्यू कटनी जंक्शन (NKJ) स्थित रेलवे स्वास्थ केन्द्र में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए सर्व सुविधायुक्त कोविड वार्ड की व्यवस्था की गई है। जल्द ही यहां भी कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जाएगा।

भोपाल में 320 बेड की आइसोलेशन एक्सप्रेस

पिछले दिनों भोपाल में सबसे पहले 320 बेड की क्षमता वाली आइसोलेशन एक्सप्रेस शुरू की गई है। भोपाल के प्लेटफॉर्म नंबर छह पर 20 कोच वाली इस ट्रेन में रेलवे के अधिकारी कर्मचारियों के साथ स्वास्थ्य विभाग का अमला भी अपनी सेवाएं दे रहा है। आपात स्थिति के लिए यहां एंबुलेंस की तैनाती के साथ कंट्रोल रूम भी बनाया गया है।