जबलपुर: सिटी हॉस्पिटल का मालिक सरबजीत सिंह मोखा पर NSA लगेगा;  कोरोना मरीजों को नकली रेमडेसिविर लगवाने का आरोप

 12 May 2021 12:59 PM

जबलपुर। जबलपुर के सिटी हॉस्पिटल के मालिक सरबजीत सिंह मोखा पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाया जाएगा। मोखा को मंगलवार सुबह उसी के अस्पताल से गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी से बचने के लिए वह पुलिस के सामने तरह तरह के बहाने बनाता रहा। पहले हार्ट अटैक का बहाना किया और फिर कोरोना पॉजिटिव होने का। मोखा को कोरोना मरीजों को नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगवाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन सप्लाई रैकेट का भंडाफोड़ होने के बाद पुलिस लगातार दो दिनों से ताबड़तोड़ कार्रवाई में जुटी है। पुलिस ने सोमवार देर रात ही सिटी अस्पताल के संचालक और जाने-माने उद्योगपति सरबजीत सिंह मोखा को ढूंढ निकाला था। वो बीमारी का बहाना बनाकर अपने ही अस्पताल में भर्ती हो गया था। सुबह-सुबह पुलिस उसे अस्पताल से गिरफ्तार कर पुलिस थाने ले आई। करीब 2 घंटे तक पूछताछ के बाद पुलिस ने स्पष्ट किया कि अब आरोपी पर एनएसए की कार्रवाई भी की जाएगी।

जांच अधिकारी ने स्पष्ट किया कि नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का यह रैकेट बड़ा भी हो सकता है। क्या यह इंजेक्शन सिर्फ 500 थे या इसका दायरा और अधिक है और कौन-कौन लोग इस रैकेट में शामिल थे- जैसे जैसे इन सब बातों का खुलासा होगा बाकी लोगों की गिरफ्तारी भी होगी।

7 मई को रैकेट का खुलासा
गुजरात से नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मध्य प्रदेश में सप्लाई होने का कनेक्शन 7 मई को सामने आया था। जब गुजरात पुलिस सपन जैन नाम के दवा व्यापारी को यहां के आधारताल इलाके से पकड़कर रातों-रात गुजरात ले गई थी। बयान में सपन ने सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा का नाम लिया था जो नकली इंजेक्शन बुलवाकर अपने ही अस्पताल में भर्ती मरीजों को लगवाता था।