केवल शक्तिपुंज चल रही फुल, बाकी 80 फीसदी तक खाली; बेहद जरूरी होने पर ही ट्रेन में सफर कर रहे यात्री

 03 May 2021 08:32 PM

जबलपुर। रेलवे ने अपने वादे के मुताबिक ट्रेनों का संचालन बंद नहीं किया है। चंद ट्रेनों को जरूर बंद किया गया है मगर उसका कारण बड़ी संख्या में चालक-सहचालकों का संक्रमित होना है। वहीं   केवलशक्ति पुंज एक्सप्रेस जो कि जबलपुर से हावड़ा के लिए जाती-आती है में ही यात्री पूरी संख्या के साथ यात्रा करते नजर आ रहे हैं,मगर बाकी ट्रेनें 80 फीसदी तक खाली चल रही हैं।

हालात यह है कि जिन ट्रेनों में पैर रखने तक की जगह नहीं होती थी, उनमें अब 80 फीसदी सीटें खाली हैं। जिन ट्रेनों में सफर करने के लिए यात्रियों को दो से तीन माह पहले टिकट लेनी होती थी, उनमें रवाना होने के चंद घंटे पहले ही आरक्षित सीट आराम से मिल जा रही है।  दरअसल कोरोना काल में ट्रेनों को यात्री नहीं मिल रहे हैं। हालात यह है कि जबलपुर से रवाना होने वाली जबलपुर-इंदौर ओवरनाइट, जबलपुर-हजरत निजामुद्दीन गोंडवाना और गरीब रथ जैसी ट्रेनें भी इन दिनों खाली ही चल रही हैं। इनमें बमुश्किल से 10 से 20 फीसदी यात्री सफर कर रहे हैं।

14 ट्रेनें चल रहीं जबलपुर मंडल से
वर्तमान में जबलपुर रेल मंडल से चलने वाली ट्रेनों की संख्या लगभग 13 से 14 हैं। इनमें अधिकांश जबलपुर से ही रवाना होती हैं और बाकी रीवा से, लेकिन इन ट्रेनों में यदि जबलपुर-हावड़ा शक्तिपुंज एक्सप्रेस को छोड़ दिया जाए तो बाकी ट्रेनें खाली ही चल रही हैं। जबकि शक्तिपुंज एक्सप्रेस में वर्तमान में यह स्थिति है कि इनमें लंबी वेटिंग लगी है। जबलपुर रेल मंडल को यह वेटिंग क्लीयर करने के लिए अतिरिक्त कोच भी लगाने पड़ रहे हैं। आंकड़ों की बात करें तो हर दिन इस ट्रेन में 110 फीसदी यात्री टिकट ले रहे हैं यानि 100 सीटों की तुलना में 110 फीसदी टिकट बुक हो रही हैं।

गत वर्ष 22 मार्च से ही बंद हो गया था ट्रेनों का संचालन
पिछले साल की अपेक्षा इस बार रेलवे ने ट्रेनों का संचालन बंद नहीं किया है, जबकि पिछले साल कोरोना काल के दौरान रेलवे ने 22 मार्च से ही ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया था। उस वक्त जिसे जहां पहुंचना था, वह नहीं जा पाए, लेकिन इस बार समय पर सभी अपनी गंतव्य तक पहुंच गए हैं। इस बार रेलवे ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि वह ट्रेनों का संचालन बंद नहीं कर रहा, जिससे यात्रियों में हड़बड़ाहट नहीं है और न ही वे पेनिक हो रहे हैं। 

यह सही है कि ट्रेनों में यात्री कम संख्या में यात्रा कर रहे हैं। केवल शक्तिपुंज एक्सप्रेस ही फुल चल रही है बाकी में 15 से 20 फीसदी ही यात्री सफर कर रहे हैं।- विश्वरंजन,सीनियर डीसीएम, मंडल रेल जबलपुर।