लोहे के टुकड़े से ट्रेन पलटाने की थी बड़ी साजिश, यूं ही नहीं पटरी से उतरी इटारसी-छिवकी एक्सप्रेस

 02 Apr 2021 01:05 PM

जबलपुर. बुधवार रात जबलपुर-इटारसी रेलखंड में इटारसी-छिवकी एक्सप्रेस को पलटाने की साजिश रची गई थी। रेलवे ने ये खुलासा करते हुए बताया कि पटरी पर 300 एमएम का लोहे का एक टुकड़ा रखकर ट्रेन और यात्रियों को भारी नुकसान पहुंचाने की साजिश रची गई थी। किस्मत से उस दौरान ट्रेन की रफ्तार ज्यादा नहीं थी, वरना कई जानें जा सकती थीं।

उच्च स्तरीय जांच शुरू

प्रारंभिक जांच में ट्रेन को पलटाने की साजिश का पता चलने के बाद रेलवे में हड़कंप मच गया है। पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) जीएम ने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच के निर्देश दिए हैं। वहीं आरपीएफ की टीमें भी घटनास्थ्ल से साक्ष्य जुटाने में जुट गई हैं।

ड्राइवर की सूझबूझ से ट्रेन पलटने से बची

इटारसी से छिवकी (प्रयागराज) को जा रही स्पेशल एक्सप्रेस 01117 बुधवार रात नरसिंहपुर जिले के बोहानी रेलवे स्टेशन के आउटर पर दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। रेलवे सूत्रों ने बताया कि बोहानी रेलवे स्टेशन के पास ये हादसा होम सिग्नल से लूप लाइन की ओर मुड़ने के दौरान प्वाइंट 102 पर हुआ। स्टेशन के आउटर पर होने के कारण ट्रेन की स्पीड काफी कम थी। डब्बों की आवाज आते ही ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोक दिया था। सिर्फ एक डिब्बा ही पटरी से उतर पाया और ट्रेन पलटने से बच गई। जांच हुई तो हादसे वाले स्थान के पास 300 एमएम का लोहे का टुकड़ा मिला।

जिम्मेदार बख्शे नहीं जाएंगे
पश्चिम मध्य रेलवे के जीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह ने घटना के बाद उच्च स्तरीय जांच के निर्देश जारी किए है। बुधवार रात 8.30 बजे बोहानी स्टेशन के पास हुए हादसे की असल वजह क्या थी। लोहे का टुकड़ा वहां कैसे पहुंचा। इंजीनियरिंग विभाग पटरियों की देखरेख में कैसे चूक कर गया। आरपीएफ की गश्ती दल को क्यों नहीं पता चला। वहीं आरपीएफ ने भी इस मामले को गंभीरता से लिया है।