Breaking News

बुजुर्गों से प्रेरणा लेकर वैक्सीन लगवाने जागरूक हो रहे युवा, फुल रहे 112 केन्द्र

 24 Jun 2021 12:36 AM

जबलपुर । 21 जून से चल रहे वैक्सीनेशन अभियान के तहत जिले में वैक्सीन लगवाने के लिए बुजुर्गों को देख युवाओं में भी वैक्सीनेशन के लिए उत्साह देखा गया। पहले से 109 केन्द्र निर्धारित थे। बाद में 140 केन्द्र बनाए गए। वैक्सीन लगवाने गए लोगों की भीड़ देख हाल ये रहा कि सेंटरों में दोपहर तक 10 केन्द्रों में वैक्सीन खत्म होने लगीं थीं। बाद में दूसरी खेप भेजी गई। गौरतलब है कि 109 केन्द्रों पर वैक्सीनेशन के लिए 20 हजार का टारगेट रहा। लोगों उत्साह को देखते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की पहल पर केन्द्र बढ़ाए गए और शाम तक आंकड़ा 26 हजार पर पहुंच गया था।

किया जा रहा भेदभाव

भोपाल से वैक्सीनेशन में भी भेदभाव किया जा रहा है। इंदौर और भोपाल को जहां 50-50 हजार वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई गई। वहीं जबलपुर को महज 20 हजार डोज दिया गया। 23 जून के लिए 72 हजार डोज मिले थे। 67 हजार 21 लोगों को वैक्सीन लगी। 24 जून को 20 हजार का टारगेट रहा। बाद में 26 हजार तक वैक्सीनेशन हो गया।

जिपं सीईओ संभाल रही मोर्चा

ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन के लिए ग्राम पंचायत और क्षेत्र पंचायत के अनुसार प्लान तैयार किया जा रहा है। इसकी कमान जिला पंचायत सीईओ ऋजु बाफना ने संभाल रखा है। 24 जून को ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीन न होने के चलते पहले से सेंटर नहीं बनाए गए थे। सुबह पता चला कि 1600 डोज बचे हैं। इसके बाद पाटन, पनागर व बरेला में कुछ सेंटर बनाए गए।

2 सेंटरों पर कोवैक्सिन लग रही

महाकौशल डिस्पेंसरी में को-वैक्सीन के डोज लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा सरस्वती स्कूल मनमोहन नगर में कोवैक्सिन का सेंटर बनाया गया है। गुरुवार को मिल्क स्कीम अधारताल स्थित वेक्सीनेशन सेंटर पर 82 वर्षीय दिव्यांग लक्ष्मी बाई को कोरोना का टीका लगाया गया ।

आज नहीं होगा टीकाकरण

प्रदेश में 25 जून को शासकीय कोविड-19 टीकाकरण नहीं होगा। इस दिन कोविड-19 टीकाकरण-सत्रों के स्थान पर नियमित टीकाकरण (माँ एवं बच्चों के) सत्रों का आयोजन होगा। संचालक (टीकाकरण) राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. संतोष शुक्ला ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों और जिला टीकाकरण अधिकारियों को इस आशय के निर्देश दिए हैं।