सुबह मां सिद्धिदात्री की आराधना, अपरान्ह श्रीराम प्राकट्योत्सव,शाम को निकले जवारे

 22 Apr 2021 12:21 AM

जबलपुर । मां सिद्धिदात्री की आराधना के साथ ही सुबह चैत्र नवरात्र पर्व का समापन हो गया। वहीं मंदिरों में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के प्राकट्योत्सव पर जयश्री राम के नारे गुंजायमान हो उठे। शाम को मंदिरों और दरबारों से शुरू हुआ जवारे विजर्सन का क्रम गाइड लाइन के तहत रात तक जारी रहा। गौरतलब है कि नौ दिन तक व्रत रखने वाले साधकों ने जवारे दर्शन के पश्चात उपवास पूरा किया। वहीं भक्तों ने महामारी से बचने प्रार्थना की। शाम को नर्मदा तट व तालाबों में विधि-विधान से जवारों का विसर्जन किया गया। वहीं मंदिरों में मैया के द्वारे मैंने बो दए जवारे, अब देखन कैसे जाऊं जैसी भगतें सुनाई दे रहीं थीं।

यहां रखे गए जवारे

शहर के प्रमुख मंदिरों मां बगलामुखी, शीतला माता मंदिर, बड़ी खेरमाई, बूढ़ी खेरमाई, गौतम मढ़िया, पंडा की मढ़िया, आशीष दरबार, महाकाली मंदिर सदर और गढ़ाफाटक के अलावा त्रिपुर सुंदरी, बरेला मंदिर व समीपी गांवों के मंदिरों में नौ दिन तक जवारों की आराधना की गई।

नहीं निकली शोभायात्रा

सनातन धर्म महासभा के नेतृत्व में पुराने बस स्टैंड से हर वर्ष भगवान श्रीराम की झांकियों पर आधारित शोभायात्रा निकाली जाती है। इस बार गाइड लाइन के चलते व शोभायात्रा के संयोजक डॉ. श्यामदास के गौलोक गमन पर ऐसा आयोजन नहीं हुआ। भक्तों ने घर में भगवान श्रीराम की आरती व राम नाम का जाप कर रामनवमी मनाई।

राम मंदिर मदनमहल

रामनवमी पर सादगी के साथ हवन शुरू किया गया। समिति के सदस्यों ने राम रक्षा स्त्रोत, सुन्दर कांड का पाठ के साथ पं रामकुशल पांडे, गुलशन माखीजा के नेतृत्व में हलुवा का भोग लगाकर बांटा गया।

शिव शक्ति राम मंदिर

सरस्वती कॉलोनी चेरीताल जबलपुर में पुष्पाजंलि, सहस्त्रार्चन के साथ ही राम जन्मोत्सव वैदिक परापंराओ का पालन करते हुए आयोजन हुआ। गाइड लाइन के चलते कॉलोनी के लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंदिर में भगवान श्रीराम के दर्शन किए।

लगाया खिचड़ी का भोग

सार्इं आनंद जन कल्याण समिति महात्मा गांधी वार्ड के तत्वावधान में, रामनवमी पर खिचड़ी का प्रसाद वितरण किया गया। वहीं लोगों को जागरूक करने मास्क एवं सैनिटाइजर का भी वितरण किया गया।

10 हजार श्रद्धालुओं ने किए आनलाइन दर्शन

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देशन में गाइड लाइन के चलते श्रद्धालुओं के लिए जिले के प्रमुख दुर्गा मंदिर के आन लाइन दर्शन की व्यवस्था की गई थी। आनलाईन दर्शन जिला प्रशासन की वेबसाइट पर किए गए। इस संबंध में जिला सूचना विज्ञान अधिकारी आशीष शुक्ला ने बताया कि आन लाइन दर्शन की व्यवस्था में तेवर स्थित त्रिपुर सुंदरी माता मंदिर, सदर स्थित काली माता मंदिर, बड़ी खेरमाई माता मंदिर, हनुमानताल, बंगाली क्लब परिसर स्थित काली माता मंदिर एवं छोटी खेरमाई मंदिर मानस भवन को जोड़ा गया है।