अगर आपको भी रात में नींद नहीं आती है तो अपनाए यह तरीके, नींद की गोली न लें

 27 Dec 2020 06:28 PM

दिनभर की थकान के बाद अक्सर ऐसा होता है कि बहुत थकान हो जाती है। मन होता है कि चैन की नींद ली जाए पर जब सोने जाते हैं तो नींद नहीं आती है। या रात में नींद टूट जाती है। इसका मुख्य  कारण होता है कि आपका दिमाग शांत नहीं है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि सुकून भरी नींद के लिए कुछ उपाय करें। 

एक से ज्यादा तकियों पर सिर को ऊंचा रखकर सोने से आपकी गर्दन में दर्द  और ठोढ़ी दोहरी हो जाएगी और आप खरार्टे भी लेने लगेंगे। याद रखें केवल एक चौड़े तकिए का ही इस्तेमाल करें।

 यदि संभव हो तो गद्दे के निचले हिस्से को उठाएं (पैर वाले सिरे को) ताकि आपके पैर सिर के तल से छह इंच या एक फुट ऊपर उठे रहें। यह सोने के लिए एक आदर्श स्थिति है क्योंकि इसमें खून का बहाव पीछे की ओर यानी पैर से दूर हृदय की ओर होता है।

जब आपके परिवार के लोग सो रहे हों और आपको नींद नहीं आ रही हो तो इस समय का इस्तेमाल करें। कुछ पढ़ें या मधुर संगीत सुनें या ध्यान करें। धीरे-धीरे जैसे ही आप आराम करने लगेंगे आपको नींद आने लगेगी।

अगर नींद आने में दिक्कत हो तो नींद की गोली न लेने का प्रयास करें। इन गोलियों से आरामदेह और प्राकृतिक नींद नहीं आती। अप्राकृतिक और जबरदस्ती की नींद लाने से आप ताजगी महसूस नहीं करेंगे और सिरदर्द होता रहेगा। इसके अलावा आपकी सेहत भी बिगड़ जाएगी।

आपको अपने सोने का समय निश्चित कर लेना चाहिए और उसी समय पर सोने की कोशिश करनी चाहिए। गहरी नींद के लिए प्रतिदिन थोड़ी देर व्यायाम करना भी जरूरी है।

आप जिस कमरे में सोते हैं, कोशिश करें कि उसको केवल सोने का कमरा ही रखा जाए, उसको स्टडी या टी.वी. रूम न बनाया जाए। कमरे का तापमान मौसम के अनुकूल रखें और सोने का कमरा शांत हो तथा उसमे धीमी रोशनी हो। खिड़कियों पर गहरे रंग के पर्दे हो, ताकि बाहर की रोशनी अंदर न आए।