नया ट्रेंड: डार्क सर्कल छिपाने और स्ट्रेच मार्क ढंकने के लिए ब्राजील के महिलाएं गुदवा रहीं टैटू

 14 Jan 2021 06:51 PM

डार्क सर्कल इन दिनों बड़ी समस्या बना हुआ। कई महिलाएं तो इसके चलते टेंशन में आ जाती हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए वह कई तरह के जतन भी करती हैं। कई महंगे कॉसमेटिक उत्पादों पर विश्वास जताती हैं तो कई घरेलु नुस्खे आजमाती हैं। लेकिन ब्राजील में डार्क सर्कल छिपाने के लिए इन दिनों नया ट्रेंड चल रहा है। यहां की महिलाएं डार्क सर्कल को छिपाने के लिए आंखों के आसपास त्वचा के रंग वाला टैटू गुदवा रही हैं। 

डार्क सर्कल छिपाने वाली इस टैटू तकनीक को ब्राजील के मशहूर टैटू कलाकार रोदोल्फो तोरिज ने इजाद किया है। वह टैटू गन की मदद से आंखों के किनारे ग्राहक की त्वचा के रंग वाली स्यासी का छिड़काव कर देते हैं। इससे डार्क सर्कल तो ढक ही जाते हैं, साथ ही दाग-धब्बे और झुर्रियों के निशान भी सामने वाले को नजर नहीं आते।

रोदोल्फो के मुताबिक टैटू में इस्तेमाल स्याही त्वचा की बाहरी परत के नीचे जम जाती है। यह बाहरी परत और काले घेरों का सबब बनने वाले रसायनों के बीच एक दीवार की भूमिका निभाती है। इससे इन रसायनों का असर त्वचा पर नहीं उभर पाता और डार्क सर्कल दूर रहते हैं।

रोदोल्फो ने दावा किया कि टैटू में इस्तेमाल स्याही पूरी तरह से सुरक्षित है। इससे लैस टैटू गुदवाने के लिए ग्राहक का महज एक बार पार्लर आना काफी है। हालांकि, उसे कुछ दिनों तक मेकअप से दूरी बनाए रखनी पड़ सकती है।

स्ट्रेच मार्क ढंकने वाली तकनीक भी पेश की
रोदोल्फो इससे पहले स्ट्रेच मार्क ढंकने वाली तकनीक ईजाद कर सुर्खियां बंटोर चुके हैं। दरअसल, पुरुषों को चर्बी के घटने-बढ़ने और महिलाओं को शिशु को जन्म देने के बाद अक्सर स्ट्रेच मार्क उभरने की शिकायत सताती है। रोदोल्फो एयरगन की मदद से स्ट्रेच मार्क वाली महिलाओं को ग्राहक की त्वचा की रंगत वाली स्याही से भर देते हैं। इससे स्ट्रेच मार्क त्वचा के रंग से इस कदर घुल जाते हैं कि उनकी भनक तक नहीं लगती।

ब्राजील के मशहूर टैटू आर्टिस्ट रोदोल्फो तोरिज ने यह नई तकनीक ईजाद की है।

जानें क्या है खास
इस तकनीक में रोदोल्फो टैटू गन से त्वचा की रंगत वाली खास स्याही का छिड़काव करते हैं । 
आंखों के नीचे के काले घेरे ढक जाते हैं, झुर्रियां और दाग-धब्बे भी छिप जाते हैं।

क्यों पड़ते हैं काले घेरे
ढलती उम्र, नींद की कमी, थकान और लगातार कई घंटों तक स्क्रीन का इस्तेमाल से डार्क सर्कल हो जाते हैं। इसके अलावा विटामिन ए, सी, के, ई और आयरन सहित विभिन्न पोषक तत्वों की कमी से भी यह समस्या हो सकती है।