पढ़ें मक्के की रोटी खाने के फायदे: कई बीमारियों को भगाती है, गर्भवती महिलाओं के लिए है लाभकारी

 26 Dec 2020 06:50 PM

कड़ाके की सर्दी में मक्के की गरमा-गरम रोटी किसे पसंद नही होगी। लोग भले ही स्वाद के लिए इसे खाते हो पर यह स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी है। यह अन्य अनाजों की तुलना में पचाने में आसान है। इसमें विटामिन-ए, बी, ई और कई तरह के मिनरल्स जैसे आयरन, कॉपर, जिंक, मैग्नीज, सेलेनियम, पोटेशियम आदि भरपूर मात्रा में पाए जाता हैं। इस वजह से यह शरीर को एकदम स्वस्थ रखती है। तो आइए जानते हैं मक्के की रोटी खाने के फायदे...

गर्भावस्था में करें सेवन
सर्दियों में जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ रहे इसके लिए बहुत जरूरी है कि गर्भवती महिलाएं अपने आहार मे मक्के की रोटी को जरूर शामिल करें। गर्भवती महिलाओं में यदि फोलिक एसिड की कमी रहती है तो जन्म के वक्त बच्चे का वजन भी कम हो सकता है। मक्के में फोलिक एसिड अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इसलिए अपने चिकित्सक का एक बार परामर्श लेकर मक्के की रोटी का सेवन शुरू करें।

वजन घटाती है
आपने ध्यान दिया होगा कि यदि आप सर्दियों में एक बार में 4 गेहूं की रोटी खा लेते हैं तो आप मक्के की 2 ही रोटी खा पाएंगे। मक्के की रोटी का सेवन करने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। आपका पेट एक ही बार में भर जाता है। आपको बार-बार भूख नहीं लगती है। जब आप बार-बार कुछ भी नहीं खाएंगे तो वजन बढ़ने का तो सवाल ही नहीं उठता है।

कब्ज से राहत
मक्के की रोटी गेहूं की रोटी की तुलना में इसे पचाना बेहद आसान होता है। मक्के में मौजूद फाइबर पाचन क्रिया को सही रखता है और हानिकारक पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने का काम करता है। जिस वजह से कब्ज की समस्या शरीर में ज्यादा समय तक नहीं रह पाती है। मोशन सामान्य होते हैं और एसिडिटी की समस्या में भी इसके सेवन से राहत मिलती है।

ह्रदय को रखे स्वस्थ
यह कोलेस्ट्रॉल को कम कर कार्डियोवस्कुलर की रिस्क को कम करता है। मक्के की रोटी में ओमेगा-३ फैटी एसिड भी होता है जो दिल को स्वस्थ बनाता है। इसके अलावा यह हाई बीपी की समस्या को कम कर हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा कम करता है। सर्दियों में नियमित रूप से इसे खाने से शरीर में से बुरे कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम हो जाता है।