भोजन में नमक-मिर्च या मसाले हो गए हैं ज्यादा तो कैसे करें कम, यहां जानें तरीके

 18 Jan 2021 04:01 PM

किचिन को एक प्रयोगशाला कहा जाता है। जिस प्रकार प्रयोगशाला में तरह-तरह के प्रयोग होते हैं उसी प्रकार किचिन में भी भांति-भांति के व्यंजनों को बनाने का प्रयास किया जाता है। लैब में हर प्रयोग सफल हो यह जरूरी नहीं, कुछ ऐसा ही किचिन के साथ भी है। यहां बनने वाला भोजन हर बार सही बने यह जरूरी नहीं। कई बार भोजन में मिर्च या नमक या दोनों की मात्रा कम-ज्यादा हो जाती है। कम होने की स्थिति में तो हम इसे सही कर सकते हैं परंतु ज्यादा होने पर हमारे समझ दुविधा की स्थिति पैदा हो जाती है। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आप सब्जी में ज्यादा नमक मिर्च या मसाले ज्यादा होने पर एप्लाई कर सकते हैं। 
 
लाल मिर्च ज्यादा होने पर
भोजन बनाते समय अगर खाने में लाल मिर्च ज्यादा हो जाए तो उसे कम करने के लिए दूध या दही का इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसे में ग्रेवी में गाढ़ा दही का इस्तेमाल न सिर्फ ग्रेवी का टेक्सचर बहुत अच्छा बना देगा, साथ ही यह भोजन से तीखेपन को भी कम कर देगा।

पूरा खाना मसालेदार होने पर
जब पूरा खाना बहुत अधिक मसालेदार बन गया हो और आपको ये समझ में नहीं आ रहा है कि खाने में कौन सा मसाला ज्यादा हुआ है। ऐसे में भोजन में थोड़ा सा शहद या फिर शक्कर डालने से मदद मिल सकती है। ध्यान रखें खाने का स्वाद सुधारने के लिए मिठास का इस्तेमाल बहुत कम मात्रा में करना है। वरना आपकी स्पाइसी डिश जल्द ही किसी मिठाई में कनवर्ट हो जाएगी।

नमक मिर्च दोनों ज्यादा होने पर
जब भोजन बनाते समय ग्रेवी में नमक और मिर्च दोनों ही अधिक हो जाए तो नट पेस्ट यानि मूंगफली या किसी अन्य नट का क्रश किया हुआ पेस्ट का इस्तेमाल करें। इसके लिए आप किसी नट बटर को भी एड कर सकते हैं। ध्यान रखें नट पेस्ट का इस्तेमाल उन्हीं सब्जियों में करें जिसके साथ मूंगफली अच्छी लगती हो।

खाने में नमक अधिक होने पर
अगर आपके खाने में नमक ज्यादा हो गया है और आप बिना मेहनत किए उसे तुरंत ठीक करना चाहते हैं तो आप नींबू का रस डिश में एड कर सकती हैं। नींबू का खट्टापन एक्स्ट्रा स्पाइस को कम करके नमक को ठीक करता है। 

मसाले ज्यादा होने पर
नमक, मसाला, मिर्च कुछ भी खाने में ज्यादा होने पर आप उसमें अंडे की जर्दी मिला सकते हैं। यह आपके खाने में एक्स्ट्रा स्पाइस कम करके ग्रेवी को भी थिक बनाने में मदद करेगा। लेकिन ध्यान रखें, ऐसा करते समय अंडा खाने में सीधा फोड़कर न डालें बल्कि अंडा उबाल कर उसका योक ही ग्रेवी में डालें। पूरा अंडा डालने से ग्रेवी का स्वाद खराब हो जाएगा।