कोरोना काल: भीगा हुआ मास्क लगाने से हो सकता है फंगल इंफेक्शन, नमी के मौसम में बरतें यह सतर्कता

 22 May 2021 01:33 PM

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना का संक्रमण लगातार जारी है। कोरोना के बाद अब ब्लैक और वाइट फंगस के मामले भी सामने आ रहे हैं। कई राज्यों ने तो ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर दिया है। वहीं नमी के मौसम फंगल इंफेक्शन का डर भी बढ़ जाता है। ऐसे में लोगों को कुछ चीजों का खास ध्यान रखने की जरूरत है। कोरोना के इस समय में मास्क लगाना आवश्यक है। लेकिन नमी के मौसम में घर से बाहर निकलते समय अपने मास्क को लेकर ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है। अगर मास्क गीला हो जाए और तब भी आप उसे लगाए रहेंगे तो यह आपको कोरोना संक्रमण से सुरक्षा देने के बजाए फंगल इंफेक्शन हो सकता है। यहां पढ़ें की बदल रहे मौसम में मास्क को लेकर क्या सतर्कता बरतने की जरूरत है। 


मास्क में नमी होने पर उसे बदलें 
बारिश के मौसम में इतनी नमी होती है कि बूंदाबांदी न भी हो रही हो तो भी कुछ घंटों में मास्क नम हो सकता है। ऐसे में बाहर खुले इलाकों में काम करने वाले लोगों को हर दो-तीन घंटे में अपना मास्क बदलते रहना चाहिए। इसके अलावा, घर से जरूरी काम के लिए ही बाहर जाने वाले लोग भी अपनी जेब में एक से अधिक मास्क लेकर ही बाहर निकले ताकि अचानक मौसम खराब हो जाए तो उन्हें गीला मास्क लगाए रखना ना पड़े। 

फंगल इंफेक्शन का खतरा 
कवक या फंगल बैक्टीरिया की समस्या सबसे ज्यादा नमी भरे मौसम में होती है। ऐसे में अगर मुंह पर लगा मास्क नम या गीला हो जाता है तो उसमें फंगल बीजाणु पहुंच जाते हैं। ये बीजाणु मास्क के माध्यम से नाक में प्रवेश कर सकते हैं। इस वक्त कोरोना संक्रमण की वजह से लोगों की इम्युनिटी कमजोर हो गई है। ऐसे में संभावना बढ़ जाती है कि यह फंगल इंफेक्शन आपके फेफड़ों में पहुंचकर शरीर को बीमार कर दे। 
  
धूप में सुखाएं मास्क 
आमतौर पर घरों में कपड़ों को धूप दिखाई जाती है। खासकर बारिश के बाद, ताकि उसमें फंगल बीजाणु न पनपें। ठीक इसी तरह मास्क को भी कुछ देर धूप में सुखा लें। सामान्य मौसम में भी गीला या फिर गंदा मास्क न पहनें। साथ ही अगर कोई डिस्पोजेबल मास्क लगा रहा है तो उसे आठ घंटे के बाद बदल लेना चाहिए। 

डबल मास्क लगाएं 
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए दो मास्क लगाने की सलाह दी जाती है। ऐसे में नम मौसम के दौरान ऊपरी मास्क के नम हो जाने की ज्यादा संभावना है। अगर अंदर वाला मास्क सूखा हो तो सिर्फ ऊपर वाले मास्क को ही बदलें। 

मास्क को कैसे जांचें 

  • कपड़े वाला साधारण मास्क : इस मास्क के ऊपर पानी डालेंगे तो यह पूरे पानी को अपने अंदर सोख लेगा और पूरी तरह भीग जाएगा। 
  • तीन परत वाला मास्क : ट्रिपल लेयर मास्क में ऊपर से पानी डालकर देखेंगे तो यह पानी की पूरी मात्रा को अंदर तक नहीं जाने देगा। अंदर की परतें कुछ कम ही गीली होंगी। 
  • सर्जिकल मास्क : इस मास्क के ऊपर पानी डालने पर यह पानी को अंदर ही नहीं जाने देगा। 

क्या कहता है डब्लूएचओ 
डब्लूएचओ  का कहना है कि जब मास्क गीला हो जाता है तो वह कोरोना संक्रमण से सुरक्षा देने में कम या बिल्कुल ही प्रभावशील नहीं रह जाता। पानी हवा के बहाव को रोकता है जिससे मास्क की वायरल कणों को फिल्टर करने की क्षमता घट जाती है।