World Bicycle Day: तनाव कम कर शरीर में ऊर्जा बढ़ाती है साइकलिंग, कोरोना काल में भी है फायदेमंद

 03 Jun 2021 09:06 AM

आज विश्व साइकिल दिवस (World Bicycle Day 2021) है। 3 जून, 2018 को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने पहला विश्व साइकिल दिवस मनाया था। इस साल दुनिया चौथा विश्व साइकिल दिवस मना रही है। साइकिल की विशेषता और बहुमुखी प्रतिभा को पहचानने के लिए यह दिन मनाया जाता है। साइकिल चलाने से हृदय रोग, स्ट्रोक, कैंसर और डायबिटीज जैसे रोगों से मौत का जोखिम को कम करने में मदद मिलती है। इसके अलावा भी साइकलिंग हमारी कई तरह से मदद करती है। इस साल विश्व साइकिल दिवस का विषय "एक सरल, टिकाऊ, किफायती और विश्वसनीय परिवहन के रूप में साइकिल की विशिष्टता, बहुमुखी प्रतिभा और दीर्घायु" है।

 

कब हुआ एलान

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अप्रैल 2018 में घोषणा थी कि हर साल 3 जून, विश्व साइकिल दिवस के रूप में मनाया जाएगा। लेस्ज़ेक सिबिल्स्की के धर्मयुद्ध और तुर्कमेनिस्तान और 56 अन्य देशों के विश्व साइकिल दिवस को मान्यता देने के समर्थन दिया था। इस दिन दुनिया भर में कई गतिविधियां आयोजित की जाती हैं।

 

इस दिन का महत्व

  • विश्व साइकिल दिवस दुनिया भर में मौजूद कई प्रकार के साइकिल चालकों को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। साइकिलें सरल, सस्ती और भरोसेमंद होने के लिए जानी जाती हैं। विश्व साइकिल दिवस न केवल दुनिया भर में साइकिलों को सम्मानित करता है, बल्कि सदस्य राज्यों को उन नीतियों और कार्यक्रमों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रोत्साहित करता है। जिनमें राष्ट्रीय और उपराष्ट्रीय विकास में साइकिल शामिल हैं।
  • साइकिल चलाना परिवहन का एक सरल, विश्वसनीय और पर्यावरण के अनुकूल तरीका है। साइकिल व्यक्तिगत विकास के साथ-साथ शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और खेल तक अपनी पहचान पाने के साधन के रूप में काम कर सकती है। साइकिल पर्यावरण के अनुकूल परिवहन का प्रतीक है जो गैस पर पैसे भी बचाता है।

 

वर्ल्ड बाइसिकल डे पर आइए जानते हैं इसके फायदे...

1. अच्छी नींद के लिए

अगर आपको रात में नींद न आने की समस्या है तो साइकलिंग करने से आपकी ये परेशानी हल हो सकती है। साइकिल चलाने से होने वाली थकान नींद ठीक करने में मदद करती है।

2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

रिसर्च के अनुसार अगर आप सप्ताह में पांच दिन 30 मिनट तक साइकिल चलाते हैं, तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। ऐसे लोग साइकिल न चलाने वालों की तुलना में 50 प्रतिशत तक कम बीमार पड़ते हैं। साइकलिंग से आपके शरीर की सारी मांसपेशियां हेल्दी और मजबूत बनती हैं। 

3. याददाश्त भी बढ़ाती है

रोज 30 मिनट तक साइकलिंग से याददाश्त 15 फीसदी तक बढ़ सकती है। एक शोध के अनुसार साइकिल चलाने से दिमाग में नई कोशिकाओं का भी विकास होता है।

4. ऑफिस में अच्छी परफॉर्मेंस

साइकलिंग करने वाले लोग अपने ऑफिस वर्क से ब्रेक कम लेते हैं, दूसरों से अच्छी परफॉर्मेंस देते हैं।

5. तेजी से बर्न करती है कैलोरी

जो लोग हाई कैलोरी जैसे कि समोसा, कचौरी, कोल्डड्रिंक ज्यादा लेते हैं। साइकलिंग से उनकी यह कैलोरीज जल्द बर्न हो जाती हैं।

 

कोरोना में कैसे है फायदेमंद

साइकिल की सवारी करने से बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं। खासकर उन लोगों के लिए जो लंबे समय से अपने घरों के अंदर बंद हैं।

1. मांसपेशियों को बनाता है मजबूत

साइकिल चलाना भी एक अच्छा व्यायाम है। जिसकी इस समय में बहुत आवश्यकता है। लंबे समय से घर बैठे लोगों में मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों का दर्द और अन्य समस्याएं शुरू हो गई हैं। जिन्हें साइकिल चलाने से ठीक किया जा सकता है।

2. ताकत और सहनशक्ति को बढ़ाता है

लॉकडाउन के बीच बहुत से लोगों ने कसरत नहीं की, जिसका सीधा असर उनकी ताकत और सहनशक्ति पर पड़ा। ऐसे में साइकिल चलाना बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि यह आपके शरीर की ताकत और सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। इस एक्सरसाइज से ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है।

3. कार्डियोवैस्कुलर फिटनेस में करता है सुधार

शारीरिक स्वास्थ्य उन प्राथमिकताओं में से एक है जो अभी उन लोगों पर विचार कर रहे हैं जो COVID-19 से पीड़ित हैं। और शरीर के मुख्य अंगों में से एक जिसे देखभाल की आवश्यकता होती है, वह है हृदय। इसलिए, साइकिल चलाना आपके हृदय मजबूत करने का एक प्रभावी तरीका है क्योंकि यह कार्डियो का एक रूप है।

4. एकाग्रता के लिए अच्छा

लॉकडाउन ने बहुत से लोगों में मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी बिमारियों को बढ़ा दिया है। कई लोग चिंता, तनाव जैसी समस्याओं से पीड़ित हो गए। कई तो अपने काम और पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। इसलिए, साइकिल चलाना उनके लिए एक बढ़िया विकल्प है। क्योंकि यह संतुलन सिखाता है जो आपकी एकाग्रता शक्तियों में सुधार कर सकता है और यहां तक ​​की आपके मूड को भी अच्छा रख सकता है।

 

साइकलिंग के कुछ और फायदे

  • साइकलिंग शरीर के हर हिस्से को टोन करती है।
  • साइकिल चलाने से दिल की सेहत ठीक रखी जा सकती है।
  • डायबिटीज कंट्रोल में रहती है।
  • शरीर की ऊर्जा बढ़ाती है।
  • तनाव कम करती है।
  • वजन कम करने में बहुत कारगर है।
  • साइकलिंग से कैंसर का खतरा कम होता है।
  • गठिया रोकने में मददगार होती है।

 

साइकलिंग के बारे में कुछ खास बातें...

  • माना जाता है कि 1817 में जर्मनी के बैरन फॉन ड्रेविस ने साइकिल का आविष्कार किया था।
  • यह लकड़ी की बनी साइकिल थी और इसका नाम ड्रेसियेन रखा गया था। उस साइकिल की स्पीड 15 किलो मीटर प्रति घंटा थी।
  • साइकिल का यह नाम 1860 में फ्रांस में पड़ा। इसके पहले 1840 तक साइकिल पैर से धक्के मारकर चलाई जाती थी।
  • दुनिया की सबसे प्रसिद्ध साइकलिंग प्रतियोगिता फ्रांस में होती है जिसे टूर डी फ्रांस के नाम से जाना जाता है।