केरल में 17 साल की लड़की से 44 लोगों ने रेप किया, 2016 में पहली बार शिकार बनी; अब तक 20 आरोपी गिरफ्तार

 19 Jan 2021 06:31 PM

मलप्पुरम। केरल के मलप्पुरम में 17 साल की एक लड़की से 44 लोगों ने गैंगरेप किया है। लड़की ने बताया कि साल 2016 में जब वह 13 साल की थी, तब उसके साथ पहली बार यौन उत्पीड़न हुआ था। दूसरी घटना के बाद उसे बाल गृह भेजा गया था। करीब एक साल पहले लड़की को अपनी मां और भाई के साथ रहने की अनुमति मिली, लेकिन बाल गृह से निकलने के बाद उसके साथ कई लोगों ने फिर से यौन शोषण किया। मामले में पुलिस ने अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

मलप्पुरम बाल कल्याण समिति की ओर से बताया गया कि ये बच्ची पहले बाल गृह में रहती थी। एक साल पहले घर वालों के कहने पर बाल गृह से घर भेजने का फैसला लिया गया। बच्ची को बाहर भेजने से पहले सभी प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई थीं।

मामले में पुलिस इंस्पेक्टर मोहम्मद हनीफा ने बताया कि बच्ची ने ये खुलासा निर्भया केंद्र में अपनी काउंसिलिंग को दौरान किया। बच्ची बाल गृह से निकलने के बाद कुछ समय से लापता थी और पिछले दिसंबर में पलक्कड़ में उसका पता चला। इसके घरवाले उसे निर्भया केंद्र ले आए थे। यहां काउंसिलिंग के दौरान उसने केंद्र के अधिकारियों को यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ की घटनाओं की जानकारी दी। पुलिस ने बच्ची के बयान के बाद सभी आरोपियों के खिलाफ यौन उत्पीड़न का केस दर्ज कर लिया। अब तक 20 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं।

केरल में रेप के आंकड़े उठा रहे कई सवाल
केरल में बीते कुछ दिनों में रेप के कई मामले चर्चा में रहे हैं। NCRB की एक रिपोर्ट के अनुसार 100% शिक्षित आबादी वाला राज्य केरल प्रति लाख आबादी पर महिलाओं के रेप केस की दर में दूसरे स्थान पर है। वहां प्रति लाख आबादी पर 11.1 महिलाओं का रेप हुआ। वहीं, 15.9 की दर से राजस्थान इस लिस्ट में टॉप पर है।