किसान आंदोलन का 58वां दिन: सरकार और किसानों के बीच 11वें दौर की बैठक बेनतीजा रही

 22 Jan 2021 05:39 PM

नई दिल्ली। नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन का आज 58वां दिन है। किसानों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकराते हुए आंदोलन जारी रखने का ऐलान किया है। वहीं आज दोनों पक्षों के बीच 11वें दौर की बैठक विज्ञान भवन में हुई। यह बैठक बेनतीजा रही और अगली बैठक की तारीख भी सरकार की तरफ से नहीं दी गई। इससे पहले बुधवार को किसानों से बातचीत में सरकार ने प्रपोजल दिया कि कृषि कानूनों को डेढ़ साल तक होल्ड कर सकते हैं। इसके बाद उम्मीद जगी कि अब शायद किसान मान जाएं, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। किसान नेताओं ने गुरुवार को दिन भर बैठकें करने के बाद देर रात कहा कि सरकार का प्रपोजल मंजूर नहीं। उन्होंने कहा कि कानून रद्द होने चाहिए, और एमएसपी की गारंटी मिलनी चाहिए।

किसान अभी नहीं निकले विज्ञान भवन से बाहर
बैठक खत्म हो जाने के बाद भी किसान नेता विज्ञान भवन से अब तक बाहर नहीं निकले हैं। 

फिर बेनतीजा रही बैठक, सिर्फ 18 मिनट ही हुई बैठक बाकी चली आपसी चर्चा
किसानों और सरकार की बैठक में 18 मिनट बात हुई और उसके बाद से पिछले 3 घंटे 20 मिनट से ब्रेक चल रहा था, मीटिंग फिर से शुरू हुई तो कुछ ही देर में बैठक खत्म हो गई। बैठक खत्म होने के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बयान जारी किया कि, सरकार आपके सहयोग के लिए आभारी है। कानून में कोई कमी नहीं है। हमने आपके सम्मान में प्रस्ताव दिया था। आप निर्णय नहीं कर सके।आप अगर किसी निर्णय पर पहुंचते हैं तो सूचित करें। इस पर फिर हम चर्चा करेंगे। आगे की कोई तारीख तय नहीं है।

किसान यूनियन के नेताओं का मनाया गया जन्मदिन
किसान यूनियन के कुछ नेताओं का आज जन्मदिन है। इसी को विज्ञान भवन के बाहर केक काटकर मनाया गया।

कृषि मंत्री किसानों से हुए नाराज, कहा- मीडिया से क्यों की प्रस्ताव की चर्चा
कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज की बैठक शुरू होने के बाद किसानों से नाराजगी जताई कि आखिर उसके द्वारा दिए गए पिछले बैठक के प्रस्ताव को किसानों ने मीडिया में क्यों साझा किया। इसके साथ ही कृषि मंत्री ने ये भी कहा कि प्रस्ताव पर आपके निर्णय के बारे में आपने मीडिया को पहले क्यों बताया, आपको इसके बारे में आज की बैठक में बताना था।

'राजा' भैंसे के साथ पहुंचे किसान, ट्रैक्टर रैली में होगा शामिल
यूपी गेट पर शुक्रवार सुबह किसानों ने ट्रैक्टरों के साथ परेड की रिहर्सल की। वहीं, किसानों की ट्रैक्टर रैली में शामिल होने के लिए आज यूपी गेट पर मेरठ से एक किसान अपने साथ राजा नाम के भैंसे को लेकर पहुंचे। भैंसे के मालिक कपिल चौधरी ने बताया कि वह किसानों के ट्रैक्टर रैली में जरूर शामिल होंगे। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान को देखते हुए शुक्रवार को भी यूपी गेट पर 11 किसान भूख हड़ताल पर बैठे हैं। इन सभी ने सुबह 8:00 बजे के करीब मंच के पास 24 घंटे की भूख हड़ताल शुरू की।

ट्रैक्टरों को पुलिस न रोक पाए इसलिए किसानों ट्रैक्टरों के आगे लगाए भारी बुलगार्ड
दिल्ली में सरकार से 11वें दौर की बैठक के दौरान यूपी गेट पर ट्रैक्टरों की संख्या बढ़ने लगी है। रैली के दौरान किसानों को पुलिस जहां भी रोकेगी उसको लेकर किसानों ने अपने ट्रैक्टरों के आगे भारी-भरकम बुलगार्ड लगा दिए हैं।

सरकार की अपील- हमारे प्रस्ताव पर फिर विचार करो
किसानों के साथ बैठक में सरकार ने एक बार फिर अपील की है कि अन्नदाता उनके प्रस्ताव पर विचार करें। बताया जा रहा है कि अभी बैठक में भोजनावकाश हुआ है, ऐसे में किसान संगठन इस प्रस्ताव पर फिर चर्चा कर सकते हैं।

11वें दौर की बैठक शुरू
किसान नेताओं और सरकार के बीच विज्ञान भवन में 11वें दौर की बैठक शुरू हो चुकी है।