सेंट्रल विस्टा पर घिरी केंद्र सरकार

 05 May 2021 01:13 AM

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट में मंगलवार को एक जनहित याचिका दायर कर कोरोना के दौरान केंद्र सरकार को सेंट्रल विस्टा एवेन्यू पुनर्विकास परियोजना की निर्माण गतिविधियां रोकने का निर्देश देने का आग्रह किया गया। केंद्र ने इस याचिका का विरोध किया। कोर्ट ने कहा, पहले वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अध्ययन करना चाहती है। इस टिप्पणी के साथ अदालत ने मामले को स्थगित कर दिया और सुनवाई की अगली तारीख 17 मई तय की।

कांग्रेस की सर्वदलीय बैठक की मांग, विस्टा पर सवाल

इधर, कांग्रेस ने देश में कोरोना वायरस महामारी की स्थिति को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि मौजूदा हालात पर चर्चा के लिए सरकार को सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए। पार्टी ने यह आरोप भी लगाया कि सरकार आक्सीजन, वेंटिलेंटर और जरूरी दवाओं की उपलब्धता पर ध्यान देने की बजाय सेंट्रल विस्टा परियोजना और प्रधानमंत्री का नया आवास बनाने में हजारों करोड़ रुपए खर्च कर रही है।

राहुल गांधी बोले- क्या पीएम का अहंकार लोगों के जीवन से बड़ा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, सेंट्रल विस्टा पर 13,450 करोड़ रुपए या फिर 45 करोड़ भारतीयों को टीका लगाने के लिए खर्च हो या एक करोड़ आक्सीजन सिलेंडर खरीदे जाएं या 2 करोड़ भारतीय परिवारों को न्याय के तहत 6 हजार रुपए दिए जाएं। पीएम का अहंकार लोगों के जीवन से बड़ा है। पार्टी प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा, इस देश के सुल्तान ने देशवासियों को राम के भरोसे छोड़ दिया है।