चुनाव का ऐलान: कैंडीडेट को ऑनलाइन नामांकन और सिक्योरिटी मनी भरने की सुविधा, घर-घर प्रचार के लिए 5 लोग ही एक साथ जा सकेंगे

 26 Feb 2021 06:22 PM

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा  चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। आयोग की इस घोषणा के साथ ही चारों राज्यों और पुडुचरी (केंद्र शासित प्रदेश) में आचार सहिंता लागू हो गई है। 

 मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि यह उनकी आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस है क्योंकि वे 30 अप्रैल को रिटायर हो जाएंगे। अरोड़ा ने घोषणा की कि 294 विधानसभा सीटों वाले पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान कराया जाएगा। पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य में 7 चरणों में वोटिंग कराई गई थी, इस बार कोरोना को ध्यान में रखते हुए 8 चरणों में वोटिंग होगी। असम में तीन चरणों में वोटिंग होगी। इसके अलावा तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में एक ही चरण में 6 अप्रैल को मतदान होगा। सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे एक साथ ही 2 मई को घोषित किए जाएंगे। चुनाव आयुक्त ने कहा कि परीक्षाओं और त्योहारों के दिन मतदान नहीं कराया जाएगा। सभी त्योहारों का ख्याल रखा गया है।

 

चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि  कुल 824 सीटों पर 18 करोड़ लोग डालेंगे वोट: 
4 राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश की कुल 824 सीटों पर मतदान होगा। 18.6 करोड़ से ज्यादा मतदाता इन राज्यों में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। कोरोना से बचाव के लिए सभी राज्यों में मतदान केंद्रों की संख्या में इजाफा किया गया है। 5 राज्यों के कुल 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर वोटिंग होगी। पश्चिम बंगाल 1 लाख से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। इसके साथ ही ड्यूटी में तैनात सभी चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण किया जाएगा। 
 
ऑनलाइन हो सकेगा नामांकन: 
उम्मीदवारों को बड़ी सुविधा देते हुए चुनाव आयोग ने आॅनलाइन नामांकन भरने और सिक्योरिटी मनी भी ऑनलाइन जमा कराने का ऐलान किया है। सभी राज्यों और पुडुचेरी के लिए चुनाव में मतदान का समय एक घंटा ज्यादा होगा। सभी मतदान केंद्र गाउंड फ्लोर पर ही स्थित होंगे। सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में मतदान कराया जाएगा और सीआरपीएफ तैनात की जाएगी।

 प्रचार और फॉर्म भरने के लिए लोगों की संख्या तय की:
आयोग ने कहा है कि उम्मीदवार समेत 5 लोगों को घर-घर जाने की इजाजत होगी। यही नहीं नामांकन दाखिल करने के लिए भी कैंडिडेट के साथ सिर्फ दो अन्य लोग जा सकेंगे। रिटर्निंग ऑफिसर के दफ्तर में सिर्फ दो वाहन ले जाने की ही अनुमति होगी।