प.बंगाल में चुनाव बाद की हिंसा के बीच कोलकाता पहुंचे नड्डा बोले- भारत के बंटवारे में हुई थी ऐसी हिंसा, हम जंग को तैयार

 04 May 2021 04:56 PM

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव के नतीजों के बाद हुई हिंसा के बीच भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा राज्य पहुंच गए हैं। नड्डा के साथ भाजपा के नेता कैलाश विजयवर्गीय और भूपेंद्र यादव भी बंगाल गए हैं।  कोलकाता एयरपोर्ट पर उतरते ही नड्डा ने टीएमसी को चेतावनी देते हुए कहा कि टीएमसी की गतिविधियां असहिष्णुता से भरी हुई हैं। उसके मुकाबले के लिए हम लोकतांत्रिक तरीके से लड़ने को तैयार हैं। मैं अब दक्षिण 24 परगना जाऊंगा और भाजपा कार्यकर्ताओं के परिजनों से मिलूंगा, जिनकी हिंसा में जान गई है। मैंने ऐसी घटनाएं भारत के विभाजन के दौरान ही सुनी थीं। आजाद भारत में चुनाव नतीजों के बाद हमने कभी इस तरह की हिंसा नहीं देखी।

वहीं राज्य में भाजपा कार्यकर्ताओं से हुई हिंसा के बाद एक पार्टी कार्यकर्ता की पत्नी शेफाली दास ने कहा है कि दक्षिण 24 परगना के कई इलाकों में टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने दुकानों और घरों में तोड़फोड़ की है। 2 मई को टीएमसी के गुंडों ने मेरे घर पर हमला किया था, क्योंकि मेरे पति बीजेपी के पोलिंग एजेंट थे। उन्होंने हमें संपत्ति को बेचकर यहां से निकलने की धमकी दी है।

सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई :

चुनाव बाद हिंसा को लेकर भाजपा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी लगाई गई है। यह याचिका पार्टी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने दाखिल की है। याचिका में कोर्ट से कहा गया है कि हिंसा की सीबीआई  जांच कराई जाए। अर्जी में सुप्रीम कोर्ट से मांग की है कि वह बंगाल सरकार से रिपोर्ट तलब करे कि आखिर चुनाव नतीजों के बाद हुई हिंसा को रोकने के लिए उसकी ओर से क्या कदम उठाए गए हैं।

मोदी ने राज्यपाल से की बात :

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी राज्य के गवर्नर जगदीप धनखड़ से बात कर हिंसा पर चिंता जताई है। इस बारे में राज्यपाल ने कहा कि - पीएम नरेंद्र मोदी ने कॉल किया था और कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को लेकर गहरी चिंता और नाराजगी व्यक्ति की।