ISRO का बड़ा मिशन: पीएसएलवी-सी 51 के जरिए 19 सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे गए;  शीर्ष पैनल पर पीएम मोदी की तस्वीर और 'भगवद गीता' और लेकर उड़ा रॉकेट

 28 Feb 2021 11:27 AM

चेन्नई। साल 2021 के पहले अंतरिक्ष अभियान के तहत आज रविवार को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो ने19 सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे। इसे  पीएसएलवी-सी51 के जरिए सुबह 10 बजकर 24 मिनट पर भेजा गया। इसमें  पहली बार ब्राजील का सैटेलाइट भारत से रवाना किया गया है। इस अभियान की उल्टी गिनती शनिवार को आंध्र प्रदेश में श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से शुरू हो गई थी। 

अमेजोनिया-1 के बारे में जानिए
पीएसएलवी-सी51 पीएसएलवी का 53वां मिशन है। इस रॉकेट के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1 के साथ 18 अन्य सैटेलाइट भी अंतरिक्ष में भेजे गए हैं। 637 किलोग्राम वजनी अमेजोनिया-1 ब्राजील का पहला सैटेलाइट है जिसे भारत से भेजाजाएगा। यह राष्ट्रीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (आईएनपीआई) का ऑप्टिकल पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है।
अमेजोनिया-1 अमेजन क्षेत्र में वनों की कटाई की निगरानी और ब्राजील के क्षेत्र में विविध कृषि के विश्लेषण के लिए उपयोगकतार्ओं को जरूरीआंकड़े मुहैया कराएगा। साथ ही यह मौजूदा ढांचे को और मजबूत बनाएगा। 


पीएसएलवी-सी51 को चेन्नई से करीब 100 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपित किया गया था। इन सैटेलाइट में चेन्नई की स्पेस किड्ज इंडिया (एसकेआई) का सतीश धवन एसएटी (एसडी एसएटी) भी शामिल हैं। आत्मानिर्भर भारत की पहल और अंतरिक्ष निजीकरण का आभार व्यक्त करने के लिए इस अंतरिक्ष यान के शीर्ष पैनल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर उकेरी गई है। एसकेआई ने इस बारे में बताया की आत्मानिर्भर पहल और अंतरिक्ष निजीकरण के लिए एकजुटता और आभार व्यक्त करने के लिए पीएम मोदी की तस्वीर इस पर उकेरी गई है।