जेईई मेन एंट्रेंस एग्जाम आज से; कोरोना के चलते 852 सेंटर बनाए गए,  कैंडिडेट्स को देना हाेगा नॉन- काेविड का सेल्फ डिक्लेरेशन

 23 Feb 2021 09:17 AM

जेईई मेन एंट्रेंस एग्जाम आज से शुरू  
जेईई मेन 2021 (फरवरी सत्र) का एंटरेंस एग्जाम आज मंगलवार से शुरू हो रहा है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी 23 से 26 फरवरी तक परीक्षा आयोजित करवाएगी। इसके लिए इस बार 852सेंटर बनाए गए हैं। कंप्यूटर आधारित प्रवेश परीक्षा में 6,61,761 स्टूडेंट शामिल होंगे। पिछले साल कोविड-19 के दौरान सितंबर में आयोजित परीक्षा के लिए 660 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। पहली बार हिंदी समेत 13 भारतीय भाषाओं में जेईई परीक्षा होने जा रही है। 

एनटीए के महानिदेशक विनीत जोशी ने इस बारे में बताया की, जेईई मेन 2021 के तहत फरवरी परीक्षा 23 से शुरू होकर 26 तक चलेगी। कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। परीक्षार्थियों को दो घंटे पहले आना होगा। सामाजिक दूरी के नियमों के तहत दो कंप्यूटर के बीच दूरी रहेगी।

पहली बार होगी 13 भारतीय भाषाओं में जेईई परीक्षा
यह पहली बार होगा जब हिंदी समेत 13 भारतीय भाषाओं में  जेईई परीक्षा आयोजित की जाएगी। जेईई के फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई परीक्षा के लिए -
असमी में 700, 
बंगाली में 24, 841,
ओड़िया में 471, 
पंजाबी में 107, 
तमिल में 1264,
तेलगू में 371, 
उर्दू 24, 
मलयालम में 398, 
कन्नड़ में 234,
हिंदी में 76, 459 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन किया है। 

कोविड-19 प्रोटोकॉल का रखना होगा ध्यान- 
परीक्षा केंद्र में सभी स्टूडेंट्स को कोविड-19 प्रोटोकॉल का ध्यान रखना होगा। किसी भी तरह की लापरवाही होने पर या नियमों का पालन ना करने पर छात्र को  बाहर कर दिया जाएगा। इन बातों का रखना होगा ध्यान: 

  • पारदर्शी बोतल में पीने के पानी घर से लाने की अनुमति है।
  • 50 एमएल का निजी हैंड सेनेटाइजर भी ला सकते हैं।
  • एडमिट कार्ड बारकोड स्कैनर से स्कैन होगा।
  • मेटल डिटेक्टर छात्र की जांच करेगा। इसलिए किसी प्रकार की धातू की वस्तु न लेकर आए।
  • घर से कोविड-19 से संक्रमित नहीं है, का सत्यापित पत्र लाना होगा।
  • परीक्षा में अंगूठा नहीं लगाना होगा। घर से सादे कागज पर अंगूठे का निशान और उस कागज पर अभिभावक का हस्ताक्षर होना जरूरी है।
  • परीक्षा से संबंधित दस्तावेज एडमिट कार्ड और एक सरकारी फोटो पहचान पत्र लाना होगा।