उप्र महिला आयोग की सदस्य ने कहा- लड़कियों को मोबाइल नहीं देना चाहिए

 10 Jun 2021 05:00 PM

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने अलीगढ़ में कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ने की वजह उनका मोबाइल फोन इस्तेमाल करना है। वे अलीगढ़ के PWD गेस्ट हाउस में महिलाओं की समस्याएं सुनने के लिए पहुंची थीं। यहां महिला आयोग की सदस्य ने कहा कि लड़कियों के मोबाइल भी चेक नहीं किए जाते। घर वालों को पता नहीं होता और फिर मोबाइल से बात करते-करते लड़कों के साथ भाग जाती हैं। उन्होंने लड़कियों को मोबाइल नहीं देने का सुझाव भी दिया और कहा कि मोबाइल दें तो उसकी पूरी मॉनीटरिंग करें। उन्होंने कहा कि अगर बेटियां बिगड़ गई हैं तो उसके लिए मां ही जिम्मेदार हैं। 

हुआ विरोध : मीना कुमारी के बयान के बाद राज्य की दूसरी पॉलिटिकल पार्टियों ने कहा है कि मीना कुमारी को सोच बदलने की जरूरत है। अगर मोबाइल से बेटियां बिगड़ रही हैं तो बेटों के बिगड़ने के लिए कौन जिम्मेदार है। 
सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि सरकार महिलाओं की सुरक्षा से भागना चाहती है। शर्म की बात यह है कि सरकार महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी मां बाप पर छोड़ना चाहती है।