Breaking News

भाजपा का कोई मजबूत सियासी विकल्प नहीं : सिब्बल

 13 Jun 2021 10:46 PM

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने रविवार को कहा कि कांग्रेस को संगठन के सभी स्तरों पर व्यापक बदलाव लाना चाहिए। इससे यह नजर आएगा कि वह जड़ता की स्थिति में नहीं है। सिब्बल पिछले साल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पार्टी में व्यापक बदलाव के लिए पत्र लिखने वाले जी-23 नेताओं में शामिल थे । उन्होंने उम्मीद जताई कि कोविड- 19 महामारी के मद्देनजर हाल में टाले गए संगठन के चुनाव जल्द ही कराए जाएंगे। एक न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने माना कि फिलहाल भाजपा का कोई मजबूत सियासी विकल्प नहीं है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शासन का नैतिक अधिकार खो दिया है। देश के मौजूदा रुख को देखते हुए कांग्रेस एक विकल्प पेश कर सकती है। उन्होंने कहा कि चुनावों में हार की समीक्षा के लिए समितियां बनाना अच्छा है, लेकिन इन का तब तक कोई असर नहीं होगा जब तक उनके द्वारा सुझाए गए उपायों पर अमल नहीं किया जाता। असम में आॅल इंडिया युनाइडेट डेमोक्रेटिक फ्रंट और पश्चिम बंगाल में इंडियन सेक्यूलर फ्रंट के साथ पार्टी के गठबंधन को सुविचारित नहीं बताते हुए सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस यह समझाने में विफल रही कि अल्पसंख्यक व बहुसंख्यक संप्रदायवाद समान रूप से खतरनाक है।

युवाओं और अनुभव में संतुलन बनाना होगा

ज्योतिरादित्य सिंधिया और अब जितिन प्रसाद जैसे युवा नेताओं के भाजपा में जाने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा- अनुभव व युवाओं के बीच संतुलन बनाने की तत्काल आवश्यकता है। उन्होंने पहले कहा था कि आया राम, गया राम की राजनीति से अब यह प्रसाद की राजनीति तक पहुंच गई है। उन्होंने पूछा कि क्या जितिन प्रसाद को भाजपा से प्रसाद मिलेगा। उन्होंने संकेत दिये कि नेता अपने राजनीतिक स्वार्थ की पूर्ति के लिए पार्टी छोड़कर जा रहे हैं।