राज्यपाल पटेल ने महिला बाल विकास विभाग की योजनाओं का फीडबैक लिया, अफसरों से कहा- जमीनी हकीकत जानने के लिए दौरा करें

 22 Jul 2021 10:02 PM

भोपाल। मध्य प्रदेश के राज्यपाल का पद संभालने के बाद से ही मंगू भाई पटेल लगातार सक्रिय नजर आ रहे हैं। प्रदेश सरकार की योजनाओं पर राज्यपाल ने फीडबैक लेना शुरू किया है और इसकी शुरुआत महिला बाल विकास से की है। राज्यपाल आने वाले दिनों में दूसरे विभागों के अफसरों के साथ बैठक कर सरकार के कामकाज की समीक्षा करेंगे।

गुरुवार को राज्यपाल ने राजभवन में महिला एवं बाल विकास विभाग की बैठक कर विभागीय योजनाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं की मंशा लोगों को फायदा पहुंचाने की होती है। योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने के लिए अफसरों को दौरा करना जरूरी है। राज्यपाल ने महिला बाल विकास विभाग के अफसरों को निर्देश दिए हैं कि वह ग्रामीण स्तर पर दौरा कर योजनाओं की सच्चाई को परखें। साथ ही जिन योजनाओं को और अधिक प्रभावी बनाने की जरूरत है उसके लिए भी लोगों से फीडबैक लें।

राज्यपाल ने कहा कि स्थानीय स्तर पर काम के दौरान आने वाली समस्याओं और उनके समाधान के लिए विभागीय अफसरों का मैदानी कर्मचारियों से बातचीत करना जरूरी है। उन्होंने जरूरतमंदों तक योजनाएं पहुंचाने की जरूरत बताई। साथ ही कहा कि स्थानीय बोलियों में योजनाओं की जानकारी जनता को दें। सरकारी योजनाओं में समाज का सहयोग लेने के लिए कोशिश करें और योजनाओं का प्रचार करें।

बैठक में अफसरों ने बताया कि प्रदेश में 32 हजार 172 आंगनबाड़ी केंद्रों में हितग्राही के घर और सरकारी स्थानों पर पोषण आहार वाटिका बनाकर पोषण मुहैया कराया जा रहा है। कुपोषित बच्चों और उनके परिवारों को 174 टन सामग्री फल सब्जी अनाज देकर पोषण देने की कोशिश हो रही है।