उज्जैन: माधव नगर अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से पांच मरीजों ने दम तोड़ा, भाजपा नेता की मौत से गुस्साए समर्थकों ने तोड़फोड़ की

 08 Apr 2021 08:21 PM

उज्जैन। शहर में बीती रात माधव नगर अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते पांच मरीजों ने दम तोड़ दिया। इनमें भाजपा के एक मंडल अध्यक्ष की भी मौत हो गई। मंडल अध्यक्ष जितेंद्र शेरे की मौत से गुस्साए कार्यकर्ताओं ने माधव नगर अस्पताल में तोड़फोड़ की। उन्हें रोकने के लिए पुलिसकर्मी आए तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की की। 

जानकारी के अनुसार, अस्पताल के प्रभारी और विकास प्राधिकरण के सीईओ सुजानसिंह रावत को भी भाजपा कार्यकर्ता मारने पहुंचे। उन्होंने अपने आपको एक कमरे में बंद कर लिया। इसके बाद भी भाजपा कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी खत्म नहीं हुई। उन्होंने लात मारकर दरवाजा तोड़कर अधिकारी के साथ मारपीट करनी चाही। उधर, इस पूरे मामले में अस्पताल के प्रभारी सुजानसिंह रावत ने कहा कि जिन मरीजों की मौत हुई है, उन सभी को लंग्स में इन्फेक्शन था और इसी वजह से मौत हुई। ऑक्सीजन की कमी की वजह से मौत नहीं हुई। 

24 घंटे में 14 संदिग्धों की मौत!
दूसरी तरफ शहर में 24 घंटे में 14 लोगों की मौत हो गई है। इसमें अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इनमें से कितने कोरोना संदिग्ध हैं और कितने पॉजिटिव। अचानक एक साथ इतने लोगों की मौत की खबर से प्रशासन भी हरकत में आ गया है। आरडी गार्डी के 8, माधवनगर के 2, सहर्ष का 1, चेरिटेबल में 1, अमलतास हॉस्पिटल में 2 की मौत हुई है, जिसकी पुष्टि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अभी तक नहीं की गई है। इनमें मृतकों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत किया गया।

माधव नगर अस्पताल के प्रभारी डॉ. भोजराज शर्मा ने बताया कि पिछले 36 घंटे में माधव नगर अस्पताल में 8 से अधिक मरीजों की मौत हो चुकी है। ये सभी मौतें लंग्स में इन्फेक्शन के कारण हुईं। ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीजों की जान नहीं गई।